Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत बंदः ट्रेड यूनियन की हड़ताल में किसान भी होंगे शामिल, सड़क से लेकर बंदरगाह तक होगा प्रभावित

ट्रेड यूनियन की हड़ताल के चलते 8-9 जनवरी को देश भर की बैंकिंग प्रभावित होंगी। भारत बंद में बैंक कर्मियों ने भी शामिल होने का फैसला किया है। ऑल इंडिया बैंक इम्प्लाई एसोसिएशन (AIBEA) 8-9 जनवरी को हड़ताल पर रहेगा। आईडीबीआई बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा ने हड़ताल को लेकर अपने ग्राहकों को सूचना दे दी है।

भारत बंदः ट्रेड यूनियन की हड़ताल में किसान भी होंगे शामिल, सड़क से लेकर बंदरगाह तक होगा प्रभावित
ट्रेड यूनियन की हड़ताल (Tread Union Strike) के चलते 8-9 जनवरी को देश भर की बैंकिंग प्रभावित होंगी। भारत बंद (Bharat Bandh) में बैंक कर्मियों ने भी शामिल होने का फैसला किया है। बैंक हड़ताल (Bank Strike) को लेकर आईडीबीआई बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा ने हड़ताल को लेकर अपने ग्राहकों को सूचना दे दी है। ऑल इंडिया बैंक इम्प्लाई एसोसिएशन (AIBEA) 8-9 जनवरी को हड़ताल पर रहेगा। बैंक कर्मी बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक और विजया बैंक के प्रस्तावित विलय के खिलाफ 26 दिसंबर को हड़ताल पर जा चुके हैं। जिसके कारण सेवाएं प्रभावित हुईं। 26 दिसंबर को हुई हड़ताल यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स द्वारा किया गया था।

किसान भी देंगे समर्थन

वामपंथी संगठनों के भारत बंद की घोषणा के बाद किसान भी हड़ताल में शामिल होंगे। केंद्रीय ट्रेड यूनियन ने 8 और 9 जनवरी को हड़ताल की घोषणा की है। सीपीआई के अतुल कुमार अंजान ने बताया कि 8 और 9 जनवरी को रेल रोको, रोड रोको के साथ प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह मोदी सरकार के विरोध में की जा रही हड़ताल है।
किसानों के समर्थन पर उन्होंने कहा कि इसमें आम लोग, श्रमिक, प्राइवेट कर्मी शामिल हो रहे हैं। इसी को देखते हुए किसानों ने अपना समर्थन दिया है। क्योंकि वह भी परेशान हो चुके हैं। किसान अपने-अपने क्षेत्रों में रोड जाम करेंगे जिससे कि देशव्यापी हड़ताल सफल हो सके।
सीआईटीयू के माहासचिव तपन सेन गुप्ता ने हड़ताल का कारण बताते हुए कहा कि प्रस्तावित संशोधित ट्रेड यूनियन बिल 2018 श्रमिकों से उनके अधिकार छीन रहा है। अगर यह बिल पास हुआ तो ट्रेड यूनियनों के अधिकार खत्म हो जाएंगे। मजदूरों और श्रमिकों को दबाया जा रहा है।
राफेल डील (Rafale Deal) पर भी गुप्ता ने सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि राफेल डील में कहा जा रहा है कि टेक्नोलॉजी का ट्रांसफर हुआ है। लेकिन ऐसा नहीं है। क्योंकि हैल (HAL) को कांट्रैक्ट से बाहर रखा गया है। तपन सेन गुप्ता ने बताया कि भारत बंद में टैक्सी और बस यूनियन के लोग भी शामिल होंगे। साथ ही इसमें बंदरगाह पर काम करने वाले कर्मचारी भी अपने-अपने क्षेत्रों में काम बंद रखेंगे।
Loading...
Share it
Top