Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SC/ST Protection Act: आज भी दिख सकता है बंद का असर, यूपी में 448 दलित गिरफ्तार

भारत बंद के दौरान हुई हिंसा में सोमवार को यूपी के चार जिलों मुजफ्फरनगर, मेरठ, हापुड़ और आगरा में एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

SC/ST Protection Act: आज भी दिख सकता है बंद का असर, यूपी में 448 दलित गिरफ्तार
X

अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम के तहत तत्काल गिरफ्तारी और मामले दर्ज करने पर प्रतिबंध लगाने के उच्चतम न्यायालय फैसले के खिलाफ आहूत देशव्यापी बंद के तहत कई दलित संगठनों ने सोमवार को देश के कई राज्यों में हिंसक विरोध प्रदर्शन किया।

भारत बंद के दौरान हुई हिंसा में सोमवार को यूपी के चार जिलों मुजफ्फरनगर, मेरठ, हापुड़ और आगरा में एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

वहीं, सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य के कई जिलों में उग्र प्रदर्शन कर रहे लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। हिंसा और प्रदर्शन में करीब 35 से 40 पुलिसकर्मी और 30 से 35 प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं तथा सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। इन चार जिलों में 448 लोगो को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

इन जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल भी भेजा गया है। इन जिलों में सोशल मीडिया पर भी निगरानी रखी जा रही है। पुलिस उप महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) प्रवीन कुमार ने बताया कि प्रदेश के चार जिलों मुजफ्फरनगर, मेरठ, हापुड़ और आगरा में प्रदर्शन के दौरान ​हिंसा की घटनायें सामने आई हैं। इसके अलावा कुछ अन्य जिलों में छिटपुट घटनायें हुई हैं, जबकि प्रदेश के 90 फीसदी हिस्से में पूरी तरह से शांति रही।

इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम (एससीएसटी एक्ट) से संबंधित उच्चतम न्यायालय की हाल की व्यवस्था को लेकर राज्य के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन कर रहे लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की है।

सीएम ने प्रदर्शनकारियों से अपील की कि किसी भी प्रकार ऐसी स्थिति ना पैदा हो जिससे कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो। हमारी संवेदना एससीएसटी और वंचित तबकों के सभी नागरिकों के प्रति है। उनके कल्याण एवं सुरक्षा के लिए हमारी सरकारें पूरी संजीदगी के साथ युद्धस्तर पर काम कर रही हैं।

कुमार ने बताया कि मुजफफरनगर में गोली लगने से एक गंभीर घायल व्यक्ति की अस्पताल में मौत होने की सूचना है, जबकि हापुड़ जिले में गोली लगने से एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल है। वहीं, मेरठ में भी एक व्यक्ति के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना है। इसके अलावा 35 से 40 पुलिसकर्मी भी घायल हैं, लेकिन यह संख्या अभी बढ़ सकती है। वहीं 30 से 35 प्रदर्शनकारी भी घायल है और यह संख्या भी बढ़ सकती है।

हिंसा की घटना की जानकारी मिलते ही मुजफ्फरनगर, मेरठ, हापुड. और आगरा में आठ कंपनियां आरएफएफ पुलिस बल त​था पांच कंपनी पीएसी की भेजी गई है। इन जिलों के पुलिस अधिकारियों के साथ राज्य पुलिस के आला अधिकारी लगातार संपर्क में हैं और हालात पर नजर बनाये हुए हैं। उन्होंने दावा किया कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिये केवल लाठीचार्ज और आंसूगैस के गोले छोड़े।

पुलिस द्वारा गोली चलाये जाने की बात पूछे जाने पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। डीआईजी कुमार ने बताया कि इन चारों जिलों से 448 लोगों को हिरासत में लिया गया है और इनसे पूछताछ की जा रही है और लगातार लोगों को हिरासत में लिया जा रहा है। अभी किसी की गिरफतारी के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story