Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जीसेट-9 की ये हैं खूबियां, मिलेगा लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस सैटेलाइट के सफल लॉन्‍च के लिए इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई दी।

जीसेट-9 की ये हैं खूबियां, मिलेगा लाभ
X

भारतीय इतिहास में पहली बार किसी ऐसे उपग्रह को लॉन्च किया गया है। जिससे न केवल भारत बल्कि दक्ष‍िण एशिया के दूसरे देश भी फायदा होगा। इसरो ने शुक्रवार को शाम करीब 5 बजे श्रीहरिकोटा से 2230 किलो के साउथ एशिया सैटेलाइट को लॉन्च किया।

साउथ एशिया सैटेलाइट के फायदे

इसे जीएसएलवी-एफ09 रॉकेट से भेजा गया हैं। इससे साउथ एशिया के देशों की कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी को फायदा मिलेगा। इसरो के मुताबिक, इस सैटेलाइट से सभी सहयोगी देश अपने-अपने टीवी कार्यक्रमों का प्रसारण कर सकेंगे। किसी भी आपदा के दौरान उनकी संचार सुविधाएं बेहतर होंगी।

इससे देशों के बीच हॉटलाइन की सुविधा दी जा सकेगी और टेली मेडिसिन सुविधाओं को भी बढ़ावा मिलेगा। यह भूकंप, सुनामी, चक्रवात जैसी प्राकृतिक आपदाओं की सूचना देने में भी प्रभावी होगा। स्पेस टैक्नोलॉजी के नाम पर मालद्वीप खाली हाथ है। ऐसे में साउथ एशिया सैटलाइट के जरिए उसे मिली मदद बेहद फायदेमंद साबित होगी।

श्रीलंका ने चीन की मदद से अपना पहला संचार उपग्रह 2012 में लॉन्च कर चुका है। उसने चीन की मदद से सुप्रीम सैट उपग्रह तैयार किया था। लेकिन अब इस साउथ एशिया सैटलाइट से उसकी क्षमताओं में इजाफा होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story