Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बेनामी संपत्ति: तीस लाख से अधिक रजिस्ट्रेशन मूल्य वाली संपत्तियों की जांच कर रहा है ''IT डिपार्टमेंट''

ये मामले 1,800 करोड़ रुपए से जुड़े हुए हैं।

बेनामी संपत्ति: तीस लाख से अधिक रजिस्ट्रेशन मूल्य वाली संपत्तियों की जांच कर रहा है IT डिपार्टमेंट
X

यदि आपने 30 लाख रुपए से अधिक की कोई संपत्ति खरीदी है तो इसकी जांच हो सकती है। बेनामी संपत्ति रखने वालों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी लाई जा रही है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ऐंटी बेनामी ऐक्ट के तहत 30 लाख रुपए से अधिक कीमत की सभी प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन का टैक्स प्रोफाइल मिलाने में जुटा है।

यह भी पढ़ें- सीडी कांड पर बोले हार्दिक कहा- कोई बात नहीं, यह चुनाव का समय है, हर किसी को आरोप लगाने का अधिकार है

सीबीडीटी चीफ ने मंगलवार को यह जानकारी दी। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (सीबीडीटी) चेयरमैन सुशील चंद्रा ने कहा कि टैक्सकर्मी उन शेल कंपनियों और उनके डायरेक्टर्स की भी जांच कर रहे हैं जिन पर हाल ही में रोक लगा दी गई है।

621 प्रॉपर्टीज अटैच

आईटी डिपार्टमेंट के टॉप बॉस ने कहा कि बेनामी संपत्ति लेनदेन ऐक्ट के तहत अभी तक 621 प्रॉपर्टीज, जिनमें कुछ बैंक अकाउंट्स शामिल हैं, को अटैच किया है। ये मामले 1,800 करोड़ रुपए से जुड़े हुए हैं।

यह भी पढ़ें- बीजेपी के 100-200 पेड कार्यकर्ता कॉल सेंटर में बैठकर मेरे बारे में उल्टा-सीधा कहते हैं: राहुल गांधी

उन्होंने कहा, 'हम कालेधन को सफेद में बदलने के सभी साधनों को ध्वस्त कर देंगे। इसमें शेल कंपनियां भी शामिल हैं। डिपार्टमेंट उन सभी प्रॉपर्टीज की टैक्स प्रोफाइल की जांच कर रहा है जिनकी रजिस्ट्री वैल्यू 30 लाख से अधिक है। यदि ये प्रोफाइल संदेहास्पद या गलत पाए जाते हैं तो ऐक्शन लिया जाएगा।'

बेनामी सपत्ति की गंभीरता से जांच

चंद्रा नई दिल्ली प्रगति मैदान में शुरू हुए इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर (आईआईटीएफ) में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के पविलियन का उद्घाटन करने के बाद मीडियाकर्मियों से बात कर रहे थे।

चंद्रा ने कहा कि बेनामी संपत्ति केसों की बहुत गंभीरता से जांच की जा रही है और टैक्स अधिकारियों ने इस मोर्चे पर काफी काम किया है।

शेल कंपनियों की डेटा मिला रहे अधिकारी

चंद्रा ने कहा, 'हमने देशभर में 24 यूनिट खोले हैं। हमें अलग-अलग स्रोतों से जानकारी मिल रही है। हम इस दिशा में अपने प्रयास को तेज कर रहे हैं।' चंद्रा ने कहा कि टैक्सकर्मी हाल ही में बैन की गई शेल कंपनियों की डेटा भी मिला रहे हैं।

यदि इन कंपनियों के पास कोई बेनामी संपत्ति है या कोई वित्तीय लेनदेन जिसका मिलान नहीं होता तो ऐक्शन लिया जाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story