logo
Breaking

पांच राज्यों के नतीजों से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ली महासचिवों की बैठक

एग्जिट पोल के नतीजों से बेपरवाह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पांच राज्यों में सरकार बनाने की संभावनाओं को लेकर शनिवार को राष्ट्रीय महासचिवों के साथ बैठक की।

पांच राज्यों के नतीजों से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ली महासचिवों की बैठक

एग्जिट पोल के नतीजों से बेपरवाह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पांच राज्यों में सरकार बनाने की संभावनाओं को लेकर शनिवार को राष्ट्रीय महासचिवों के साथ बैठक की।

इसमें तीन राज्यों मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में जहां फिर से सरकार बनाने की संभावनाओं पर खास तौर पर विचार किया गया तो दो अन्य राज्यों तेलंगाना और मिजोरम में पार्टी की उपस्थिति पर संतोष जताया।
भाजपा सूत्रों के अनुसार शाह ने शनिवार को पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में महत्वपूर्ण जिम्मा संभाले पार्टी के प्रमुख महासचिवों रामलाल,अरुण सिंह,भूपेंद्र यादव, अनिल जैन व कैलाश विजयवर्गीय के साथ तकरीबन एक की घंटे की बातचीत की।
इसमें एक ओर पार्टी की ओर से कराए गए सर्वे तो दूसरी तरफ एग्जिट पोल के परिणामों को लेकर भी चर्चा की गई।
सूत्र बताते हैं कि पार्टी अध्यक्ष शाह ने पहले सभी नेताओं से चुनावी परिणाम को लेकर उनकी रिपोर्ट की जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने पार्टी की राज्य इकाईयों की रिपोर्ट एवं सर्वे को लेकर चर्चा की।
सूत्र बताते हैं कि शाह विभिन्न सर्वे एवं अन्य रिपोर्टों के आधार पर जहां छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में स्पष्ट बहुमत जुटा लेने को लेकर आश्वस्त होते दिखे तो राजस्थान में वे मुकाबला नजदीकी मानकर चल रहे हैं।
एक्जिट पोल पर भी हुई चर्चा
बताया जाता है कि इस बैठक में विभिन्न एजेंसियों की इक्जिट पोल पर भी चर्चा हुई। लेकिन सरकार बनाने की संभावनाओं के मद्देनजर महासचिवों को आगाह किया कि अगर किन्हीं हालात में बहुमत का आंकड़ा हासिल नहीं होता है और मामला नजदीकी रह जाता है तो भाजपा के पक्ष में समर्थन जुटाने के लिए अभी से जीत की संभावना वाले निर्दल एवं गैर कांग्रेसी अन्य उम्मीदवारों के भी संपर्क में बनाए रखने को कहा ताकि अगर अगर किसी राज्य में मुकाबला नजदीकी होता है तो हर हाल में उनका समर्थन हासिल किया जा सके।
Loading...
Share it
Top