logo
Breaking

गणतंत्र दिवस: ओबामा से आबे तक कई विदेशी नेता बने हैं गणतंत्र दिवस पर मेहमान

गणतंत्र दिवस परेड में भारत की सैन्य शक्ति और सांस्कृतिक विविधता का दीदार पिछले कुछ सालों में कई विदेशी मेहमान कर चुके हैं जिनमें बराक ओबामा, व्लादिमीर पुतिन और शिंजो आबे जैसे विदेशी नेता शामिल रहे हैं।

गणतंत्र दिवस: ओबामा से आबे तक कई विदेशी नेता बने हैं गणतंत्र दिवस पर मेहमान

गणतंत्र दिवस परेड में भारत की सैन्य शक्ति और सांस्कृतिक विविधता का दीदार पिछले कुछ सालों में कई विदेशी मेहमान कर चुके हैं जिनमें बराक ओबामा, व्लादिमीर पुतिन और शिंजो आबे जैसे विदेशी नेता शामिल रहे हैं। इस साल हालांकि राजपथ पर आयोजित परेड में दस आसियान देशों के नेताओं ने शिरकत की। आसियान नेताओं ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ परेड को देखा।

इन नेताओं में म्यामां की स्टेट काउंसलर आंग सान सू ची, वियतनामी प्रधानमंत्री गुयेन शुयान फुक, फिलीपीन के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते, थाइलैंड के प्रधानमंत्री जनर प्रयुत चान ओ चा, सिंगापुरी प्रधानमंत्री ली सीन लूंग और ब्रूनेई के सुल्तान हाजी हसनलाल बोल्किया शामिल थे। पिछले साल गणतंत्र दिवस परेड में अबू धाबी के युवराज मोहम्मद बिन जायद अली नहयान ने, 2016 में फ्रांस के राष्ट्रपति फांसवा ओलोंद ने, 2015 में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने, 2014 में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और 2013 में भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामज्ञेल वांगचुक ने मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की थी।

थाइलैंड की प्रथम महिला प्रधानमंत्री यिंगलुक शिनावात्रा 2012 की परेड में मुख्य अतिथि थीं। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुशीलो बंबांग युधोयोनो ने 2011 की परेड विदेशी मेहमान के रूप में देखी थी। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ली म्युंग बाक ने 2010 में परेड में भारत की मेहमाननबाजी स्वीकार की थी। साल 2009 में कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव मुख्य अतिथि बने थे। 2008 में फ्रांस के राष्ट्रपति निकोलस सार्कोजी ने गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि बतौर शिरकत की थी। रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन 2007 में भारत की गणतंत्र दिवस परेड के मेहमान रहे।

Loading...
Share it
Top