Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

खुलासा: बंसल के सुसाइड नोट में CBI का टॉर्चर

सुसाइड से 4 दिन पहले बीके बंसल के बेटे ने अपने काले धन की घोषणा की थी।

खुलासा: बंसल के सुसाइड नोट में CBI का टॉर्चर
नई दिल्ली. कॉरपोरेट अफेयर मंत्रालय के पूर्व महानिदेशक बीके बंसल और उनके बेटे योगेश की खुदकुशी के बाद एक सनसनीखेज सच सामने आया है। टीओआइ को मिली जानकारी के मुताबिक, सुसाइड से 4 दिन पहले बीके बंसल के बेटे ने अपने काले धन की घोषणा की थी। इस बीच सवाल ये है कि आखिर बंसल परिवार के पास काला धन कहां से आया और एक के बाद एक घटना सामने आई।
क्या है सुसाइड नोट का मजमून
पिता-पुत्र दोनों द्वारा लिखे गए नोट में सीबीआई पर कमोबेश एक तरह के आरोप हैं। इसके कुछ अंश इस प्रकार हैं-
मैं यह सुसाइड सीबीआई अधिकारियों के टॉर्चर करने की वजह से कर रहा हूं...। दो महीने पहले मेरी पत्नी और बेटी की का मृत हालत में मिलना सुसाइड नहीं, बल्कि सीबीआई द्वारा उनका टॉचर करने के कारण मौत के लिए उन्हें मजबूर करना था। कॉरपोरेट अफेयर्स के पूर्व डीजी बंसल और उनके बेटे योगेश के सुसाइड मामले में बुधवार को मीडिया के सामने सामने आए नोट में कुछ इस तरह के आरोप लगाए गए हैं। पिता-पुत्र दोनों के नोट में सीबीआई के पांच अधिकारियों के नामों का जिक्र किया गया है। बंसल ने तो नोट में पत्नी व बेटी की हत्या इस तरह प्रताड़ित कर उन्हें ही मौत के लिए जिम्मेदार ठहराने की बात कही है।
नोट में क्या है बंसल का आरोप
उनका कहना है कि पत्नी और बेटी की मौत के बाद भी उन्हें इतना टॉर्चर किया गया कि वह और उनका बेटा सुसाइड करने को मजबूर हो गए हैं। अपने नोट में बंसल व उनके बेटे ने आरोपी अधिकारियों की सीबीआई डायरेक्टर से जांच करा कड़ी से कड़ी सजा दिलवाने की मांग की है। साथ ही यह भी कहा है कि उनके झूठ का सच सामने लाने के लिए उनका ‘लाई डिटेक्टर टेस्ट’ कराया जाए। संभवत: पिता-पुत्र ने हस्तलिखित नोट सीधे सीबीआई डायरेक्टर या फिर किसी अन्य विभाग के अधिकारी को डाक के द्वारा भेज दिए और उसकी फोटोकॉपी कराकर उसे घर में रख दिया था।
नोट में क्या लिखा है बंसल ने
बंसल ने नोट में आरोप लगाया है कि उनकी गिरफ्तारी के बाद 18 जुलाई रात डीआईजी संजीव गौतम के आदेश पर एसपी अमृता कौर और डीएसपी रेखा सांगवान सहित अन्य सीबीआई कर्मियों की टीम उनके घर पहुंची। उनकी बेटी और पत्नी को रातभर टॉर्चर किया। पत्नी के साथ मारपीट भी किया गया। डीआईजी पर उन्होंने आरोप लगाया कि मेरे सामने ही उन्होंने दोनों को जमकर टॉर्चर करने को कहा था। उन्होंने यह कहा था कि इतना टॉर्चर करेंगे की तेरी सात पुश्ते भी सीबीआई को याद रखेंगी। पत्नी और बेटी को हम जिंदा लाश बना देंगे।
आरोप है कि डीआईजी ने खुद की बड़ी पहुंच होने की बात कही थी और एक वरिष्ठ नेता के नाम का जिक्र भी किया था। मूलरूप से हिसार के रहने वाले बी.के. बंसल अपने पूरे परिवार के साथ नीलकंठ अपार्टमेंट में रहते थे। 19 जुलाई को उनकी पत्नी व बेटी ने खुदकुशी की थी। 26 अगस्त को सीबीआई द्वारा दर्ज किए गए मामले में मामले में उन्हें जमानत मिली थी। इसके बाद पिता-पुत्र यहां आकर रहने लगे थे। 27 सितम्बर को इन दोनों ने भी घर में फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top