Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोटबंदीः सरकारी अनुमान, बैंकों में 9.85 लाख करोड़ रुपये जमा

सरकारी अनुमान के अनुसार 500 और 1000 रुपये के बंद हो चुके नोट बैंकों में जमा कराए जा चुके हैं।

नोटबंदीः सरकारी अनुमान, बैंकों में 9.85 लाख करोड़ रुपये जमा
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री द्वारा 500 और 1000 के नोटबंदी के फैसले के बाद से देशभर के बैंकों में करोड़ों रुपया इक्ठटा हो गया है। लेकिन अभी तक एक अनुमान सामने आया है कि देशभर के बैंकों में साढ़े नौ लाख करोड़ से ज्यादा का पैसा जमा हो चुका है जो अबतक का सबसे ज्यादा पैसा है। इन नोटों में सबसे ज्यादा 500 और 1000 के नोट है इतनी मात्रा में जमा हुए हैं।
एनबीटी के मुताबिक, सरकारी आंकड़ों के मुताबिक शनिवार शाम तक 9.85 लाख करोड़ रुपये कीमत के अमान्य नोट बैंकों में जमा हो चुके थे। पहचान गुप्त रखने की शर्त पर सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। यह आंकड़ा केंद्र सरकार के उस अनुमान को धता बता रहा है कि नोटबंदी से करीब तीन लाख करोड़ रुपये का काला धन बैंकों में नहीं आएगा और इस तरह यह रकम अर्थव्यवस्था से बाहर हो जाएगी। 30 दिसंबर तक और नोट जमा होने के आसार के मद्देनजर तीन लाख करोड़ के इस अनुमान में बड़ी कटौती हो सकती है।
सूत्रों ने बताया कि सरकार का आकलन था कि 14.6 लाख करोड़ रुपये के बड़े नोटों में से 10 प्रतिशत बैंकों में नहीं आएगा जिससे आरबीआई की देनदारी कम हो जाएगी। इस प्रकार यह रकम सरकार के लाभांश के रूप में बचेगी। सूत्रों के मुताबिक, अमान्य नोटों का बैंकों में लगातार जमा होने का मतलब है कि कालेधनवालों ने पैसे सफेद करने का रास्ता ढूंढ लिया।
तो वही दूसरी तरफ पीएम मोदी ने जन धन खातों में तेजी से पैसे जमा होने की बात कही। शुरुआती जांच में सामने आया है कि ज्यादातर जनधन खातों में 49,000 रुपये जमा कराए गए क्योंकि 50,000 रुपये या इससे ज्यादा रकम जमा कराने पर पैन नंबर देना जरूरी था। इसके बाद सरकार ने इन जनधन खातों से एक महीने में सिर्फ 10,000 रुपये ही निकालने की सीमा तय कर दी। बैंकों में पुराने नोट जमा कराने की आखिरी तारीख 30 दिसंबर है यानी लोगों के पास अब भी समय है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top