Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

35 सेकंड तक अकेली लड़की से छेड़छाड़, CCTV में कैद हुई वारदात

बेंगलुरु से समाज को शर्मसार करने वाला वीडियो सामने आया है।

35 सेकंड तक अकेली लड़की से छेड़छाड़, CCTV में कैद हुई वारदात
X
बेंगलुरु. बेंगलुरु से समाज को शर्मसार करने वाला वीडियो सामने आया है। कभी महिलाओं के लिए परफेक्ट प्लेस कहे जाने वाले बेंगलुरु को लगता है कि अब किसी की नजर लग गई है, पिछले 6-7 महीनों में जिस तरह यहां महिलाओं और लड़कियों के साथ कई छेड़-छाड़ की घटनाएं हुई हैं, उसने इस शहर की साफ-सुथरी छवि को धूमिल कर दिया है। शहर में नए साल के मौके पर लड़कियों और महिलाओं से कई जगहों पर छेड़छाड़ की खबरें आई थीं। लेकिन अब एक ऐसा सीसीटीवी फुटेज सामने आया है जो किसी भी सभ्य समाज में अस्वीकार है।
तीन दिन पहले शहर में नए साल के जश्न के दौरान सड़क पर खुलेआम कुछ महिलाओं के साथ लोगों द्वारा शारीरिक अभद्रता करने के मामले में पुलिस ने 'विश्वसनीय' सबूत मिलने का दावा किया है। पुलिस ने इस मामले में एफआइआर दर्ज कर ली है। पुलिस ने कहा है कि उन्होंने एमजी रोड पर लगे 45 सीसीटीवी कैमरों में दर्ज विडियो की जांच की है जिसके बाद उन्हें एक ऐसा वीडियो फुटेज हाथ लगा जो कि शर्मसार घटना की कलई खोलकर रख दी है।
इस वीडियो में देखा जा सकता है कि अपने घर से महज कुछ ही दूरी पर जब लड़की रात में सड़क पर अकेली घर की ओर बढ़ रही थी, तब दो लड़के स्कूटर से उसके पीछे से आते हैं और आगे आकर रुक जाते हैं और उसके साथ अभद्र व्यवहार करते हैं और थोड़ी देर बाद लड़के, लड़की को सड़क पर पटककर आगे निकल जाते हैं। घटना पूर्वी बेंगलुरु के कम्मनहल्ली रोड पर स्थित एक मकान में लगे सीसीटीवी में दर्ज हो गई, जिसके फुटेज घर के मालिक ने पुलिस और मीडिया को दी है।
कोई मदद के लिए आगे नहीं आया
अफसोस तो इस बात का है कि इस घटना के वक्त कुछ दूर और लोग भी खड़े थे, लेकिन उनमें से कोई भी लड़की की मदद के लिए आगे नहीं आया। इस वीडियो ने बेंगलुरु जैसे शहर में सुरक्षा व्यवस्था और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए।
पॉश इलाके में हुई यह घटना
आपको बता दें कि 31 दिसंबर की रात शहर के प्रमुख इलाके एमजी और ब्रिगेड रोड पर भीड़ का फायदा उठाकर कई लड़कियों और महिलाओं से छेड़छाड़ हुई थी, उन्हें गलत ढंग से छुआ गया और गंदे कमेंट्स भी पास किए गए। यह सिलसिला करीब आधे घंटा चला। इससे अफरातफरी मच गई। यह सब कुछ शहर के उस पॉश इलाके में हुआ जहां दावा किया जा रहा था कि नए साल के जश्न को कंट्रोल करने के लिए 1500 पुलिसकर्मी लगे हुए थे। पुलिस इंस्पेक्टर नागराज के मुताबिक, नए साल के जश्न के लिए यहां करीब 60,000 लोग जमा थे।
लड़कियां जूते छोड़कर मदद के लिए दौड़ीं
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हुड़दंगियों से परेशान लड़कियां इधर-उधर भागती रहीं। कई तो अपने जूते छोड़कर मदद के लिए दौड़ीं। जब पुलिस पहुंची तो कई लड़कियां रोते हुए महिला पुलिसकर्मियों के गले लग गईं और मदद की गुहार लगाने लगीं।
नेताओं की जुबान पर लगाम नहीं
कर्नाटक के मिनिस्टर जी परमेश्वर के अलावा महाराष्ट्र के सीनियर एसपी नेता अबू आजमी ने कहा कि ऐसी घटनाएं होती ही हैं जब कम कपड़ों में महिलाएं देर रात सड़कों पर निकलती हैं। राष्ट्रीय महिला आयोग ने उन्हें और परमेश्वर को नोटिस जारी करके जवाब मांगा है।
देखें वीडियो-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story