Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जर्मनीः बलोच कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान के खिलाफ किया प्रदर्शन, CPEC को सस्पेंड करने की मांग

जर्मनी में बलोच कार्यकर्ताओं ने बलूचिस्तान में चीन पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर परियोजना के निलंबन की मांग के लिए बर्लिन में विरोध प्रदर्शन किया।

जर्मनीः बलोच कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान के खिलाफ किया प्रदर्शन, CPEC को सस्पेंड करने की मांग

जर्मनी में बलोच कार्यकर्ताओं ने बलूचिस्तान में चीन पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर परियोजना (CPEC) के निलंबन की मांग के लिए बर्लिन में विरोध प्रदर्शन किया।

कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान द्वारा बलोच लोगों के खिलाफ अत्याचार, बलोच महिलाओं और बच्चों के अपहरण समेत कई मुद्दों पर प्रकाश डाला।

क्या है चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर परियोजना

पाकिस्तान-चीन आर्थिक कॉरिडोर परियोजना एक बहुत बड़ी वाणिज्यिक परियोजना है, जिसका उद्देश्य दक्षिण-पश्चिमी पाकिस्तान से चीन के उत्तर-पश्चिमी स्वायत्त क्षेत्र शिंजियांग तक ग्वादर बंदरगाह, रेलवे और हाइवे के माध्यम से तेल और गैस की कम समय में वितरण करना है।
यह आर्थिक कॉरिडोर चीन-पाक संबंधों में केंद्रीय महत्व रखता है, गलियारा ग्वादर से काशगर तक लगभग 2442 किलोमीटर लंबा है। यह योजना को सम्पूर्ण होने में काफी समय लगेगा। इस योजना पर 46 बिलियन डॉलर लागत का अनुमान किया गया है।
यह कॉरिडोर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान और बलूचिस्तान होते हुए जायेगा। विविध सूचनाओं के अनुसार ग्वादर बंदरगाह को इस तरह से विकसित किया जा रहा है, ताकि वह 19 मिलियन टन कच्चे तेल को चीन तक सीधे भेजने में सक्षम होगा।
Next Story
Top