Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जस्टिस काटजू ने बाल ठाकरे को बताया सबसे धूर्त नेता

जस्टिस काटजू ने बाल ठाकरे की विरासत को ''देश विरोधी'' बताया है।

जस्टिस काटजू ने बाल ठाकरे को बताया सबसे धूर्त नेता
नई दिल्ली. अक्सर अपनी टिप्पणियों की वजह से चर्चाओं में रहने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे के खिलाफ ब्लॉग लिखा है। ब्लॉग में काटजू ने बाल ठाकरे को सबसे ज्यादा धूर्त नेता बताया है। उन्होंने लिखा है कि भारत के सबसे ज्यादा गुंडागर्दी करने वाले और बेहया नेताओं में शायद बाल ठाकरे सबसे ऊपर थे।

काटजू ने लिखा है कि बाल ठाकरे की मौत पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सोनिया गांधी समेत बड़ी-बड़ी हस्तियां उस 'रास्कल' को श्रद्धांजलि देने पहुंची थी, लेकिन वह नहीं गए। उन्होंने लिखा है कि तब 19 नवंबर 2012 को उन्होंने एक अंग्रेजी अखबार में लेख लिखा था कि वह क्यों बाल ठाकरे को श्रद्धांजलि नहीं दे सकते। जस्टिस काटजू ने बाल ठाकरे की विरासत को 'देश विरोधी' बताया है। उन्होंने लिखा, 'ठाकरे की विरासत क्या है? यह भूमिपूत्र का 'देश विरोधी' सिद्धांत है।'

उन्होंने लिखा है कि 'भूमिपुत्र' सिद्धांत के तहत गुजरातियों, दक्षिण भारतीयों, उत्तर भारतीयों वगैरह को बाहरी समझा जाता है। जबकि भारत एक राष्ट्र है और गैर-मराठियों को महाराष्ट्र में बाहरी नहीं समझा जाना चाहिए। एनबीटी
की रिपोर्ट के मुताबिक, काटजू ने लिखा कि ठाकरे की बनाई शिवसेना ने 60 और 70 के दशक में दक्षिण भारतीयों पर हमले किए, उनके रेस्तरा और घरों में तोड़-फोड़ किया। 2008 में बिहारियों और उत्तर प्रदेश के लोगों को निशाना बनाया। अपने ब्लॉग में काटजू ने लिखा है कि इस तरह से ठाकरे का वोट बैंक तैयार हुआ जो नफरत पर आधारित है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top