Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bakrid 2018 : जानें कहां है अल्लाह का घर, जहां गैर मुस्लिमों को जाने की नहीं है इजाजत

ईद-उल-अजहा यानि बकरीद 22 अगस्त को पूरे देश में मनाई जाएगी। इस दिन सभी मुस्लिम समुदाय के लोग बकरे की कुर्बानी देते हैं। मुस्लिम कलेंडर के मुताबिक, इस्लामी महीना जुलहिज्जा की 10वीं तारीख को मनाया जाता है।

Bakrid 2018 : जानें कहां है अल्लाह का घर, जहां गैर मुस्लिमों को जाने की नहीं है इजाजत
X

ईद-उल-अजहा यानि बकरीद 22 अगस्त को पूरे देश में मनाई जाएगी। इस दिन सभी मुस्लिम समुदाय के लोग बकरे की कुर्बानी देते हैं। मुस्लिम कलेंडर के मुताबिक, इस्लामी महीना जुलहिज्जा की 10वीं तारीख को मनाया जाता है।

यहां है अल्लाह का घर

हम यहां बात कर रहे है कि आखिर इस धरती पर अल्लाह का घर कहा है और आखिर क्यों गैर मुस्लिमों का वहां जाना मना है। मुस्लिम मान्यता के मुताबिक, सऊदी अरब की धरती पर ही इस्लाम धर्म का जन्म माना जाता है। इसलिए मक्का और मदीना जैसे पवित्र मुस्लिम तीर्थस्थल को सबसे बड़ा और अल्लाह का घर माना जाता है।

इस वजह से मक्का बना खुदा का घर

बता दें कि मक्का में पवित्र काबा है, जिसकी हज पर गए सभी मुस्लिम परिक्रमा करते हैं इसका भी अपना ही एक महत्व है। यही वह स्थान है जहां हज यात्रा सम्पन्न होती है। इसी तीर्थस्थल को अल्लाह का घर मना गया है।

ऐसे मिला था अल्लाह की तरफ से हुक्म

इस्लाम में लिखा है कि इब्राहिम और इस्माईल दोनों बाप बेटे ने मिलकर काबा शहर का निर्माण किया था। जो अल्लाह की मर्जी से हुआ था। इब्राहिम की दूसरी पत्नी हाजरा को अल्लाह की तरीफ से हुक्म आया था।

इन दो शब्दों से बना काबा अल्लाह का घर

मान्यता के मुताबिक काबा को अरबी भाषा में बैतुल्लाह कहा जाता है। इसके भी दो शब्द हैं बैत और अल्लाह जिनसे मिलकर बनता है अल्लाह का घर। इसी वजह से इस घर को अल्लाह का घर मना गया है। इस घर को बनाने का हुक्म खुद अल्लाह की तरफ से आया था।

इसे भी पढ़ें: Raksha Bandhan 2018: रक्षा बंधन का धार्मिक महत्व, जानिए किस रंग की 'राखी' बांधना होता है अत्यंत शुभ

जानें क्यों मना है गैर मुस्लिम का जाना

मक्का में जाने के लिए सभी मुस्लिम धर्म गुरुओं की अपनी अपनी मान्यता है। डॉ जाकिर नाइक भी इसको लेकर अपना विचार रख चुके हैं। उनके मुताबिक, यह सच है कि कानूनी तौर पर मक्का और मदीना शरीफ के पवित्र नगरों में गैर मुस्लिमों को प्रवेश करने की अनुमति नहीं है।

इसके पीछे का सबसे बड़ा तर्क ये है कि मक्का और मदीना जाने के लिए वीसा मिलता है। जिसकी कुछ शर्तें भी हैं। जिसके मुताबिक किसी भी बाहर गैर मुस्लिम को मक्का मदीना जाने की मनाही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story