Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शीतकालीन सत्र: संसद ठप रहने के कारण ये MP नहीं लेगा अपनी सैलरी

बतौर सांसद हम वह काम नहीं कर रहे हैं जो हमारा काम माना जाता है: जय पांडा

शीतकालीन सत्र: संसद ठप रहने के कारण ये MP नहीं लेगा अपनी सैलरी
नई दिल्ली. इस बार संसद में चलने वाले शीतकालीन सत्र के ठप होने के चलते अब एक सांसद ने अपनी तनख्वाह लेने से इनकार कर दिया है। दरअसल बीजू जनता दल (बीजद) के लोकसभा सांसद बैजयंत जय पांडा ने संसद के शीतकालीन सत्र के ठप रहने की निंदा करते हुए अपना वेतन को लौटाने की पेशकश की है।
पांडा ने ट्वीट करते हुए कहा कि, संसद ना चलने से जो समय का नुकसान उसके मद्देनजर मैं हमेशा की तरह अपना वेतन लौटाने की पेशकश करता हूं। पांडा ने रविवार को कहा कि उनकी आत्मा को यह बात कचोटती है कि बतौर सांसद हम वह काम नहीं कर रहे हैं जो हमारा काम माना जाता है। TOI के मुताबिक उनके इस ट्वीट पर भी कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।
उन्होंने बताया कि पिछले 4-5 सालों से वह संसद में हुए काम के अनुपात में ही सैलरी लेते हैं। पांडा ने कहा कि लोकसभा की कार्यवाही का जितना हिस्सा हंगामों की भेंट चढ़ता है, उसी के अनुपात में वह अपने वेतन और भत्तों को लौटा देते हैं। उन्होंने साथ में यह भी जोड़ा कि उन्होंने एक बार भी सदन में हंगामा नहीं किया है।
गौरतलब है कि इससे पहले लालकृष्ण आडवाणी भी इस्तीफे की बात कह चुके हैं। बार-बार हंगामे से निराश बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को भी यह तक तक कहते सुना गया 'मुझे लगता है कि मैं इस्तीफा दे दूं।' टीएमसी सांसद इदरीस अली ने बताया कि आडवाणी ने कहा कि अगर आज संसद में अटल जी होते तो वह भी परेशान होते। अली ने बताया कि आडवाणी ने कहा कि कोई जीते या हारे, इस सब हंगामे से संसद की हार हो रही है। स्‍पीकर से बात करके कल चर्चा होनी चाहिए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top