Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PNB के प्रबंधक निदेशक ने कहा: बैंक के लिए बुरा दौर निकल चुका, नीरव मोदी की धोखाधड़ी से 6 महीने में उबर जायेंगे

PNB के प्रबंध निदेशक सुनील मेहता का कहना है कि बैंक के लिए खराब समय निकल चुका है और वह नीरव मोदी धोखाधड़ी मामले से उपजे संकट से छह महीने में उबर जाएगा।

PNB के प्रबंधक निदेशक ने कहा: बैंक के लिए बुरा दौर निकल चुका, नीरव मोदी की धोखाधड़ी से 6 महीने में उबर जायेंगे

सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के प्रबंध निदेशक सुनील मेहता का कहना है कि बैंक के लिए खराब समय निकल चुका है और वह नीरव मोदी धोखाधड़ी मामले से उपजे संकट से छह महीने में उबर जाएगा।

पीएनबी हाल ही में 13,000 करोड़ रुपये से अधिक के धोखाधड़ी घोटाले के कारण चर्चा में रहा है। यह देश का अपनी तरह का सबसे बड़ा बैंकिंग धोखाधड़ी घोटाला है जिसमें अरबपति हीरा कारोबारी नीरव मोदी व उनके सहयोगी आरोपी हैं। मेहता ने पीटीआई- भाषा से कहा कि मौजूदा हालात से निपटने के लिए बैंक को सरकार, अन्य भागीदारों व कर्मचारियों से अ​भूतपूर्व सहयोग मिला।
उन्होंने कहा, ‘इस तरह यह बुरा दौर अब पीछे छूट गया है। चूंकि शल्य क्रिया हो चुकी है इसलिए सब कुछ हमारे नियंत्रण में नजर आ रहा है। अब हम सुधार की राह पर हैं। हमें उम्मीद है कि अगले छह महीने में हम इस सारी समस्या व संकट से उबर जाएंगे। '
बैंक की लंबी विरासत व मजबूती को रेखांकित करते हुए मेहता ने कहा, ‘यह 123 साल पुराना संस्थान है जिसकी स्थापना स्वदेशी आंदोलन के दौरान लाला लाजपत राय ने की थी। देश भर में इसकी 7,000 शाखाएं हैं और घरेलू बाजार में इसका कारोबार 10 लाख करोड़ से अधिक का है। इसलिए धोखाधड़ी का यह मामला हमारे ग्राहकों का भरोसा नहीं तोड़ सकता।'
उन्होंने कहा कि संकट के समय में भी बैंक के कारोबार ने उद्योग की तुलना में बेहतर वृद्धि की। इस दौरान बैंक का ऋण लगभग 10 प्रतिशत व जमाएं 6.2 प्रतिशत की दर से बढीं।
मेहता ने कहा, ‘इसलिए हमारी वृद्धि दर उद्योग के हिसाब से ही रही और संकट के दिनों में भी हमारे लिए कारोबार सामान्य रहा। माहौल में जो नकारात्मकता पैदा की गई उसके बावजूद ग्राहकों का भरोसा नहीं टूटा और इसका पूरा श्रेय 70,000 कर्म​चारियों को जाता है जो कि इस संकट के समय में बैंक के साथ खड़े रहे। '
एक सवाल के जवाब में मेहता ने बताया कि पीएनबी ने अमेरिकी कंपनी फायरस्टार डायमंड के खिलाफ दीवाला प्रक्रिया में अपने प्रतिनिधित्व के रूप में वकीलों की नियुक्ति की है। फायरस्टार डायमंड नीरव मोदी के समूह की ही कंपनी है। फायरस्टार डायमंड ने फरवरी में न्यूयार्क की एक ऋणशोधन अदालत में याचिका दायर की।
मेहता ने कहा, ‘अगर हमारी प्रणाली से धन गया है और एक कंपनी में लगाया गया है तो किसी भी याचिका पर फैसला किए जाने से पहले हमारी राय भी सुनी जानी चाहिए।'
उन्होंने कहा कि बैंक ने मौजूदा समय की जरूरतों को पूरा करने के लिये सभी तरह की व्यावसायिक प्रक्रियाओं को नये सिरे से बेहतर बनाने के लिये मिशन परिवर्तन शुरू किया है।
मेहता ने कहा, ‘‘हमने प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल बढ़ाया है। विदेशी मुद्रा लेनदेन के लिये हमने अपनी अंदर की प्रणाली को मजबूत किया है। हम प्रणाली को विदेशी मुद्रा कारोबार वाले सभी तरह के लेनदेन वाले क्षेत्रों तक पहुंचा रहे हैं। हम स्विफ्ट को कोर बैंकिंग साल्यूशंस से जोड़ने का काम शुरू किया है। हम इस कार्य को 30 अप्रैल तक पूरा कर लेंगे।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top