Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अयोध्या विवादः अयोध्या मामले की अगली सुनवाई 29 जनवरी को होगी, नई बेंच का होगा गठन- पढ़ें हर अपडेट

सुप्रीम कोर्ट में आज अयोध्या में राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले की सुनवाई शुरू हो गई है। अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की 5 सदस्यीय नई बेंच कर रही है।

अयोध्या विवादः अयोध्या मामले की अगली सुनवाई 29 जनवरी को होगी, नई बेंच का होगा गठन- पढ़ें हर अपडेट
X

सुप्रीम कोर्ट में आज अयोध्या में राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले की सुनवाई शुरू हो गई है। अयोध्या मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की 5 सदस्यीय नई बेंच कर रही है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 के फैसले के खिलाफ दायर 14 अपीलों पर यह सुनवाई की जा रही है।

लाइव अपडेट..

वकीलों ने कहा कि ट्रांसलेशन की भी पुष्टि होनी चाहिए।

दस्तावेज अरबी, फारसी, संस्कृत, उर्दू और गुरमुखी में लिखे हैं।

7 भाषाओं में हुआ है दस्तावेजों का अनुवाद।

रजिस्ट्री दस्तावेजों के अनुवाद की रिपोर्ट कोर्ट को सौपी जाएगी।

यूयी लतित की जगह बैंच में नए जज को किया जाएगा शामिल

सुब्रमण्यम स्वामी ने जस्टिस यूयू ललित एक बेहतरीन जज बताया।

अयोध्या मामले पर 29 जनवरी को नई बेंच करेगी सुनवाई।

अयोध्या मामले पर सुनवाई के लिए नई बेंच का गठन होगा।

हरीश साल्वे ने कहा जस्टिस यूयू ललित से कोई समस्या नहीं।

राजीव धवन ने जस्टिस यूयू ललित पर उठाया सवाल, जस्टिस यूयू ललित ने खुद को सुनवाई से अलग किया।

राजीव धवन ने कहा संविधान पीठ के गठन के लिए न्यायिक आदेश जारी करे।

राजीव धवन ने संविधान पीठ पर उठाया सवाल।

सीजेआई ने रंजन गोगोई ने राजीव धवन से कहा आप क्यों खेद जता रहे हैं।

1994 में कल्याण सिंह के लिए खड़े हुए थे यूयू ललित।

राजीव धवन ने यूयू ललित को बेंच से हटाने के लिए उठाया सवाल, फिर मांगी मांफी।

सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा है कि आज अयोध्या मामले की सुनवाई नहीं होगी, की सुनवाई के लिए समयसीमा तय की जाएगी।

वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे कोर्ट में हिन्दू पक्ष की बात रखेंगे।

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू।

अयोध्या मामले में सुनावाई के लिए दोनों पक्षों के वकील जफरयाब जिलानी, राजीव धवन, सीएम वैद्यनाथन और पीएस नरसिम्हन सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुके हैं।

5 न्यायाधीशों वाली संविधान पीठ द्वारा अयोध्या मामले की सुनवाई से पहले सुप्रीम कोर्ट के बाहर सुरक्षा कड़ी की गई है।

बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 के फैसले के खिलाफ दायर 14 अपीलों पर यह सुनवाई की जाएगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट यह भी तय करेगी कि इस मामले में जल्द और रोजाना सुनवाई होनी चाहिए या नहीं।

सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली इस पांच सदस्यीय संविधान पीठ के अन्य सदस्यों में न्यायमूर्ति उदय यू ललित, न्यायमूर्ति एस. ए. बोबडे, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई. चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति एन. वी. रमण शामिल हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top