Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राम मंदिर जैसा होगा अयोध्या का रेलवे स्टेशन, ये है योगी सरकार का पूरा मास्टर प्लान

अयोध्या में राम मंदिर को बनाने को लेकर कई घोषणा सामने आती रहती है, लेकिन अब जो घोषणा सामने आ रही है वो ये है कि राम मंदिर जैसा ही अयोध्या का रेलवे स्टेशन बनेगा। अयोध्या के केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने मंगलवार को घोषणा करते हुए कहा कि अयोध्या का रेलवे स्टेशन विश्व हिंदू परिषद के राम मंदिर की तरह होगा।

राम मंदिर जैसा होगा अयोध्या का रेलवे स्टेशन, ये है योगी सरकार का पूरा मास्टर प्लान
X

अयोध्या में राम मंदिर को बनाने को लेकर कई घोषणा सामने आती रहती है, लेकिन अब जो घोषणा सामने आ रही है वो ये है कि राम मंदिर जैसा ही अयोध्या का रेलवे स्टेशन बनेगा। अयोध्या के केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने मंगलवार को घोषणा करते हुए कहा कि अयोध्या का रेलवे स्टेशन विश्व हिंदू परिषद के राम मंदिर की तरह होगा।

अयोध्या भगवान राम का जन्मस्थान है

उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री और बीजेपी के सभी अध्यक्षों का मानना है कि अयोध्य में देश विदेश से लोग आते है । तो हर किसी को इस बात का अभास होना चाहिए कि यह भगवान राम का जन्मस्थान है।

अयोध्या रेलवे स्टेशन के पुनर्निर्माण के प्रस्ताव को जल्द लाने कि तैयारी

इसे भी पढ़े: मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट मामला: सवालों में केजरीवाल की प्रशासनिक क्षमता

आपको बता दें कि इस स्टेशन के पुनर्निर्माण में 200 करोड़ रुपये ख़र्च होगा जिसमें से 80 करोड़ स्टेशन के निर्माण में ख़र्च होंगे। एक अंग्रेजी अख़बार कि ख़बर के अनुसार, सिन्हा ने कहा कि उनका मंत्रालय अयोध्या रेलवे स्टेशन के पुनर्निर्माण के प्रस्ताव को जल्द ही लाने कि तैयारी में है।

राम मंदिर पर वेदांती महाराज का चौकाने वाला बयान

इसे भी पढ़े: हिंद महासागर में चीन की चाल हुई फेल, भारत ने समुद्र में उतारे 8 जंगी जहाज

वही गौरतलब है कि मंदिर बनाने की घोषणा को लेकर पूर्व बीजेपी सांसद राम विलास वेदांती महाराज का चौकाने वाला बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने राम मंदिर निर्माण के तारीख का ऐलान कर दिया है।
वेदांती ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण इसी साल 18 दिसंबर से शुरू होगा। राम मंदिर बनाने का ऐलान वेदांती महाराज ने गोरखपुर में एक निजी कार्यक्रम में किया। इससे पहले भी राम विलास वेदांती महाराज ने 6 दिसंबर से 2018 से अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण कि बात कही थी।

राम मंदिर पर सहमती से एतराज

उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी एक फार्मूला लेकर हमारे पास आए थे। राम मंदिर बनाए जाने कि सहमती जताई थी। पर मस्जिद का निर्माण लखनऊ शिया बहुल क्षेत्र में होने कि बता को भी सामने रखा।
इसके लिए वो सभी तैयार हो गए और राम जन्मभूमि के अध्यक्ष गोपाल दास जी ने इसपर सहमती जताते हुए हस्ताक्षर कर दिया। लेकिन सुन्नी वक्फ बोर्ड और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ ने इस सहमति का विरोध किया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story