Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अयोध्या विवाद : ''राम मंदिर'' पर इन 5 नेताओं ने दिए ऐसे बयान, लेकिन अब भी अधूरा है सपना

अयोध्या में राम मदिंर निर्माण को लेकर राज्य सरकार से लेकर केंद्र सरकार और पक्षकार समेत साधु संत लगातार बयानबाजी कर रहे हैं।

अयोध्या विवाद :
अयोध्या में राम मदिंर निर्माण को लेकर राज्य सरकार से लेकर केंद्र सरकार और पक्षकार समेत साधु संत लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। मंदिर का सपना आजादी से पहले का है लेकिन आजादी के 72 साल होने के बाद भी इस विवाद का हल नहीं निकला है। अब आखिरी रास्ता सुप्रीम कोर्ट से ही निकलने की उम्मीद है।
कई बार राम मंदिर को लेकर नेताओं के बयान भी सामने आते रहे हैं। चुनावों के दौरान ये मुद्दा और भी गरमा जाता है। धर्मसभा के नाम पर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लेकर एक बार फिर कांग्रेस नेता ने बड़ा बयान दिया है।
1. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री सीपी जोशी ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है। भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी को चुनाव आते ही राम मंदिर का मुद्दा याद आता है। जबकि सुप्रीम कोर्ट में विवाद चल रहा है। आखिर में कहा कि भाजपा नहीं राम मंदिर कांग्रेस ही बनाएगी। राजीव गांधी ने ही विवादित परिसर का ताला खुलवाया था। जहां आज भी राम मंदिर है।
2. राम मदिंर निर्माण पर विवादित बयान देकर कांग्रेसी नेता शशि थरूर भी फंस चुके हैं। शशि थरूर के एक बयान ने आग में घी डालने का काम किया था। थरूर ने कहा था कि अच्छा हिंदू ​विवादित स्थान पर राम मंदिर नहीं चाहेगा। दरअसल, चेन्नई में एक कार्यक्रम के दौरान थरूर 'द हिंदू लिट फॉर लाइफ डायलॉग 2018' में हिस्सा लेने पहुंचे। जहां उन्होंने ये विवादित बयान दिया था।
3. समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल यादव भी राम मंदिर पर बड़ा बयान दे चुके हैं। शिवपाल ने कहा था कि मैं मंदिर विरोधी नहीं हूं। लेकिन मंदिर विवादित जगह से हटकर कहीं और सभी की सहमति से बने। आगे कहा कि मंदिर का मुद्दा भाजपा के लिए केवल चुनावी मुद्दा है और कुछ नहीं।
4. जम्मू के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला भी अयोध्या मुद्दे पर कई बार बयान दे चुके हैं। फारुक ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा था कि चुनाव जीतने में भगवान मदद नहीं करते हैं, बल्कि चुनाव में वोट जनता को ही देना है। फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि भाजपा को 2019 में भगवान राम चुनाव नहीं जिताएंगे। भगवान चुनाव जिताने मे उनकी मदद नहीं करेंगे।

5.कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह भी राम मंदिर के मुद्दे पर बयानबाजी कर चुके हैं। दिग्विजय सिंह ने ने कहा था कि भाजपा अपने फायदे के लिए राम मंदिर निर्माण को तूल देती रही है। आगे कहा कि भगवान राम खुद नहीं चाहेंगे कि किसी विवादित स्थल पर उनका मंदिर बने। अभी मामाल कोर्ट में है और कोर्ट ही इसका निपटारा कर सकता है।
लेकिन एक बार फिर चुनाव से पहले राम मंदिर का मुद्दा गरमा गया है। 25 नवंबर को होने वाली अयोध्या धर्मसभा के लिए तैयारियां हो रहीं है। जिसमें भाजपा, विश्व हिंदू परिषद, शिवसेना समेत हिंदू संगठन धर्मसभा में बड़ी भीड़ आने वाली है। जिसमें मंदिर निर्माण को लेकर निर्णय निकल सकता है।
Loading...
Share it
Top