Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बैंक ग्राहकों को झटका! अब ATM से पैसे निकालना पड़ेगा महंगा, प्रति ट्रांजेक्शन पर खर्च करने होंगे इतने रुपए

मौजूदा समय में सभी बैंक ATM पर होने वाले कैश ट्रांजेक्शन के लिए 15 रुपए और नॉन कैश ट्रांजेक्शन करने पर खाते से 5 रुपए काटते हैं। ये चार्ज प्रत्येक महीने मुफ्त में मिलने वाले ट्रांजेक्शन के ऊपर लगता है।

बैंक ग्राहकों को झटका! अब ATM से पैसे निकालना पड़ेगा महंगा, प्रति ट्रांजेक्शन पर खर्च करने होंगे इतने रुपए

देश के विभिन्न राज्यों में कैश की तंगी से जूझ रहे बैंक ग्राहकों को जल्द ही एक और झटका लगने वाला है। 5 बार से ज्यादा ATM ट्रांजेक्शन करने वाले कस्टमर्स को आगे चलकर 20/ प्रति ट्रांजेक्शन खर्च करने होंगे।

वर्तमान चार्ज

मौजूदा समय में सभी बैंक ATM पर होने वाले कैश ट्रांजेक्शन के लिए 15 रुपए और नॉन कैश ट्रांजेक्शन करने पर खाते से 5 रुपए काटते हैं। ये चार्ज प्रत्येक महीने मुफ्त में मिलने वाले ट्रांजेक्शन के ऊपर लगता है।

यह भी पढ़ें- 'स्पाइडर मैन' बन हॉस्पिटल में बच्चों के साथ करता था घिनौनी हरकत, 105 साल की हुई जेल

चार्ज बढ़ने की वजह

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ATM पर होने वाले ट्रांजेक्शन के लिए कई कड़े नियम बनाए हैं, जिसके बाद ATM ऑपरेटर्स ट्रांजेक्शन चार्ज को बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

कन्फेडरेशन ऑफ एटीएम इंडस्ट्री (CATMI) ने मांग की है कि एटीएम से ट्रांजेक्शन करने पर चार्ज कम से कम 3 से 5 रुपए बढ़ना चाहिए, जिससे एटीएम ऑपरेटर्स इस बढ़ती महंगाई में अपनी लागत निकाल सकें।

जुलाई तक लागू हो सकते है नए नियम

CATMI के डायरेक्टर के. श्रीनिवास ने कहा कि हाल ही में RBI ने काफी सख्त गाइडलाइंस जारी की है। जिसके तहत ATM सर्विस प्रोवाइडर्स की कुल लागत में बढ़ोतरी होगी।

RBI ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे जुलाई से कैश मैनेजमेंट संबंधी गतिविधियों के लिए सर्विस प्रोवाइडर्स के साथ इस व्यवस्था में न्यूनतम मानक लागू करें। इसमें ATM सर्विस प्रोवाइडर्स के लिए 300 कैश वैन, एक ड्राइवर, 2 कस्टोडियन और कम से सम 2 गनमैन रखे जाने का निर्देश आरबीआई ने बैंकों को दिया है।

यह भी पढ़ें- शियाओमी का भारत को लेकर बड़ा ऐलान, इस साल 10 हजार लोगों को देगा नौकरी, ये है प्लान

कैश वाहन में लगे हो GPS

आरबीआई ने कहा है कि कैश वाहन जीपीएस ले लैस होने चाहिए। जिससे जियो फेसिंग मैपिंग के साथ इसकी निगरानी की जा सकेगी और किसी इमर्जेंसी की हालत में ये नजदीकी पुलिस स्टेशन का संकेत दे सकेंगे।

सीएटीएमआई, RBI और NPCI से बातचीत कर रही है। सीटीएमआई को उम्मीद है कि इंटरचेंज रेट को बढ़ाने के मुद्दे पर वो प्राथमिकता के आधार पर विचार-विमर्श करेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top