Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जिंदगी की जंग हार गए भारत के अटल

दिल्ली के एम्स अस्पताल में आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का 93 साल की उम्र में निधन हो गया है।

जिंदगी की जंग हार गए भारत के अटल

दिल्ली के एम्स अस्पताल में आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का 93 साल की उम्र में निधन हो गया। यह जानकारी एम्स ने बुलेटिन जारी करके दी। पांच बजकर पांच मिनट पर अटल बिहारी वाजपेयी ने अंतिम सांस ली।

पिछले 24 घंटे से अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत नाजुक बनी हुई थी। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी 11 जून से दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थे।

आपको बता दें कि अटल जी तीन बार देश के प्रधानमंत्री रहे थे। वे स्वास्थ्य संबंधी परेशानी के चलते लंबे समय से सार्वजनिक जीवन से दूर थे। अटल बिहारी वाजपेयी डिमेंशिया नाम की गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे।

अटल बिहारी वाजपेयी 2009 से व्हीलचेयर पर थे, देशवासियों ने उन्हें अंतिम बार साल 2015 में 27 मार्च को देखा। वे जब तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भारत माता के इस सच्चे सपूत को भारत रत्न से सम्मानित करने उनके आवास पर पहुंचे थे।

दो महीने पहले अटल वाजपेयी की तबीयत और अधिक खराब हो गई थी। यूरिन में इन्फेक्शन के चलते उन्हें बीती 11 जून को दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था। जहां आज शाम पांच बजकर पांच मिनट पर अंतिम सांस ली।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा।

ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति! उन्होंने आगे कहा कि लेकिन वो हमें कहकर गए हैं- मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं, ज़िन्दगी सिलसिला, आज कल की नहीं मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं?

उन्होंने आगे कहा कि मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है। हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे। अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। उनका जाना, एक युग का अंत है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top