Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अटल जी ने क्यों कहा था कि हनुमान जी वानर नहीं, इंसान थे

रामायण के सबसे चर्चित पात्र ''हनुमान'' (Hanuman) को लेकर इस समय अलग-अलग तरह के बयान सुनने को मिल रहे हैं। कभी विधानसभा चुनाव के दौरान योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) उन्हें दलित बता देते हैं तो कभी बुक्कल नवाब (Bukkal Nawab) उन्हें मुस्लिम बता देते हैं। आज हम आपको बता रहें हैं कि रामायण के बारे में और हनुमान के बारे में अटल जी की क्या राय थी।

अटल जी ने क्यों कहा था कि हनुमान जी वानर नहीं, इंसान थे
रामायण के सबसे चर्चित पात्र हनुमान (Hanuman) को लेकर इस समय अलग-अलग तरह के बयान सुनने को मिल रहे हैं। कभी विधानसभा चुनाव के दौरान योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) उन्हें दलित बता देते हैं तो कभी बुक्कल नवाब (Bukkal Nawab) उन्हें मुस्लिम बता देते हैं।
जब योगी आदित्यनाथ ने भगवान हनुमान को दलित बताया उस समय उन्हें पूरे विपक्ष ने घेर लिया था। आलोचनाएं इस तरह से हुईं की भाजपा को जवाब देते नहीं बना। आलोचनाएं राजनीति से जुड़े हुए लोगों ने ही नहीं की बल्कि आध्यात्म से जुड़े हुए लोगों ने भी की थी।
आध्यात्मिक गुरू 'मोरारी बापू' (Morari Bapu) ने कहा था कि हनुमान तो प्राणवायु हैं, कोई माई का लाल नहीं जो उन्हें जाति में बांट सके। मुरादाबाद में योगी के खिलाफ मुकदमा तक दर्ज कराया गया। योगी ने इतना कहा था कि कुछ दिन बाद अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंद कुमार साईं ने कह दिया कि 'भगवान हनुमान दलित नहीं आदिवासी थे'।
अभी यह मामला पूरी तरह ठंडा भी नहीं हुआ था कि भाजपा के एमएलसी बुक्कल नवाब ने कह दिया कि
'हनुमान जी मुसलमान थे
'। उन्होंने कहा कि इसी कारण मुस्लिमों में रहमान, रमजान, जीशान जैसे इत्यादि नाम रखे जाते हैं।
यह पहली बार नहीं है जब हनुमान के नाम पर या रामायण पर बहस हो रही है। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी का रामायण और हनुमान के बारे में अलग ही मत था। मत उनका बेहद ही तर्कपूर्ण होता था। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि रामायण और हनुमान जी के बारे में आखिर अटल बिहारी वाजपेयी की क्या राय थी।
आपको हम बता दें कि आगे जितनी भी बातें हैं वह डॉ. सौरभ मालवीय की किताब 'राष्ट्रवादी पत्रकारिता के शिखर पुरुष अटल बिहारी वाजपेयी' का अंश है। महाराष्ट्र के पुणे में 1982 में आयोजित गीत रामायण के शातकोत्तर रजत जयंती समारोह में अटल जी ने रामायण और हनुमान के चरित्र पर प्रकाश डाला।
आगे कि स्लाइड में जानिए हनुमान के बारे में क्या थी अटल जी की राय
Share it
Top