Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

युद्ध हुआ तो भारत के सामने नहीं टिक पाएगी चीनी सेना: रिपोर्ट

चीन सरकार भारत को 1962 के युद्द को याद रखने की नसीहतें देती रही है।

युद्ध हुआ तो भारत के सामने नहीं टिक पाएगी चीनी सेना: रिपोर्ट

भारत और चीन में पिछले कई दिनों से डोकलाम घाटी सीमा विवाद जारी है। विवाद के बीच चीन कई बार सेना को पीछे हटाने को लेकर चेतावनी भी दे चुका है।

चीनी सरकार के साथ-साथ चीनी मीडिया भी भारत को 1962 के युद्ध को याद रखने कि नसीहतें देता रहा है। चीन भारत को अपनी सेना की ताकत के बारे में भारत को बार-बार धमकी देता है।

लेकिन भारतीय सेना द्वरा किए गए एक सर्वे में ये बात सामने आई है कि डोकलाम क्षेत्र में भारतीय वायु सेना की स्थिति बहुत मजबूत है।

इसे भी पढ़ें- भूटान ने डोकलाम पर चीन का अधिकार माना: ड्रेगन

हालांकि सर्वे के ये दस्तावेज अभी तक कहीं प्रकशित नहीं हुए है। “द ड्रैगन क्लॉज: असेसिंग चीन पीएलएएएफ टुडे” नामक इस सर्वे के दस्तावेजों की एक प्रति एक न्यूज़ चैनल के पास होने का दावा किया जा रहा है।

इन डाक्यूमेंट में भारत और चीन की वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के नजदीक दोनों देशों की वायु सेना की ताकत का आंकलन किया गया है। ये विश्लेषण तिब्बत के अधिकार वाले क्षेत्र में किया गया है।

इसे भी पढ़ें- चीन ने दी भारत को धमकी, कहा- हम भी कश्मीर या उत्तराखंड में घुस जाएंगे!

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीनी सेना के बारे में ये विश्लेषण भारतीय वायु सेना के स्क्वाड्रन लीडर समीर जोशी ने किया है।

समीर जोशी लड़ाकू विमान मिराज 2000 के पायलट भी रह चुके हैं। जोशी ने दोनों देशों में सीमा पर जारी गतिरोध के बीच ये आंकलन किया है।

जोशी ने अपने आंकलन में लिखा कि संख्या बल में अधिक होने के बाद भी भौगोलिक, तकनीकी और प्रशिक्षण स्तर के कारण भारतीय वायु सेना चीन पर भारी रहेगी।

Next Story
Share it
Top