Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

5 राज्यों में चुनाव तारीखों का ऐलान, जानें कहां कैसा है सियासी हाल

चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही आदर्श आचार संहिता या मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट लागू हो गया।

5 राज्यों में चुनाव तारीखों का ऐलान, जानें कहां कैसा है सियासी हाल
नई दिल्ली. आगामी पांच राज्यों (यूपी, गोवा, उत्तराखंड, मणिपुर और पंजाब) में होने वाले चुनावों को लेकर चुनाव आयोग ने अपनी तैयारियों का पूरा खाका देश के सामने रखा साथ ही मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ. नसीम जैदी ने इन राज्यों में होने वाले चुनावों की तारीखों का भी ऐलान किया।
यूपी में सात चरणों में, मणिपुर में दो, जबकि बाकी राज्यों में एक चरण में चुनाव होंगे। चुनाव के लिए पहली वोटिंग 4 फरवरी, जबकि आखिरी वोटिंग 8 मार्च को होगी। वोटों की गिनती 11 मार्च को होगी। आयोग के मुताबिक, चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही आदर्श आचार संहिता या मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट लागू हो गया।

जानिए कहां कैसा है सियासी हाल-
उत्तर प्रदेश:
उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी में चल रहे घमासान के बीच दोबारा सत्ता हासिल करने के लिए जोर लगा रही है। हालांकि पार्टी में वर्चस्व की हालिया लड़ाई चुनाव में उसके प्रदर्शन पर असर डाल सकती है। बीजेपी भी सत्ता पर काबिज होने के लिए अपनी पूर जोड़ कोशिश में लगी है। और बीएसपी की बात करें तो इसने यूपी के लिए सारी सीटों पर कैंडिडेट की घोषणा भी कर दी है। कांग्रेस भी शीला दीक्षित को सीएम कैंडिडेट बना राज्य की सत्ता पर दावेदारी ठोक रही है। हालांकि राजनीतिक गलियारे में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच संभावित गठजोड़ की भी खबरें चल रही हैं।
पंजाब:
पंजाब में कैप्टन अमरिंदर के नेतृत्व में कांग्रेस सत्ता में वापसी की फिराक में है। अकाली-बीजेपी गठबंधन की हरसंभव कोशिश सरकार बचा ले जाने की है। हालांकि यहां आम आदमी पार्टी का भी अच्छा खासा असर माना जा रहा है। राजनीतिक पंडित पंजाब के विधानसभा चुनाव को AAP की वजह से त्रिकोणीय मान रहे हैं।
गोवा:
गोवा में बीजेपी की सरकार है, जहां इस बार आम आदमी पार्टी भी अपनी किस्मत आजमा रही है। आम आदमी पार्टी अपनी जीत को लेकर आश्वस्त है।
उत्तराखंड:
उत्तराखंड में हरीश रावत की अगुआई वाली कांग्रेस सरकार ने बीते कुछ वक्त में काफी उतार चढ़ाव देखे हैं। यहां एंटी इनकंबेंसी फैक्टर के तहत अमूमन हर पांच साल पर सरकारें बदलती रही हैं।
मणिपुर:
मणिपुर में कांग्रेस का शासन है। राज्य में चल रहे नगा प्रदर्शनों की वजह से चुनाव आयोग ने सुरक्षा इंतजाम की ध्यान रखते हुए तारीख तय करने में काफी माथापच्ची की है। यहां वर्तमान सरकार का कार्यकाल 18 मार्च को खत्म हो रहा है। राजनीतिक पंडित मानते हैं कि कांग्रेस अपनी जीत को लेकर आश्वस्त है। वहीं, बीजेपी राज्य में हुए प्रदर्शनों के लिए सीएम इबोबी सिंह को जिम्मेदार ठहराते हुए सियासी हवा अपने पक्ष में मान रही है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top