Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Live Result / एक लाख 74 हजार ईवीएम मशीनों में कैद 8500 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आज

मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव 2018 (assembly elections 2018) के लिए आज सुबह 8 बजे से मतगणना शुरू हो जाएगी।

Live Result / एक लाख 74 हजार ईवीएम मशीनों में कैद 8500 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आज
मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम में हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव 2018 (assembly elections 2018) के लिए आज सुबह 8 बजे से मतगणना शुरू हो गई है। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के बीच है। इन तीनों राज्यों में फिलहाल भाजपा (bjp) सत्ता में हैं। जबकि तेलंगाना में मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (KCR) की पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) और चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेलुगु देशम पार्टी (TDP) के बीच मुख्य मुकाबला होने की संभावना हैं।वहीँ अगर पूर्वोत्तर के राज्य मिजोरम की बात करें तो यहां मुख्य मुकाबला कांग्रेस और मिजो नेशनल फ्रंट (MNF) के बीच रहने की संभावना जताई जा रही है। मिजोरम में फिलहाल कांग्रेस की सरकार है और पी ललथनहवला (pu lalthanhawla) मिजोरम के मुख्यमंत्री हैं। मिजोरम में इस बार कांग्रेस को सत्ता विरोधी लहर (anti incumbency) का सामना करना पड़ सकता है।

लाइव अपडेट....

यहां हम आपको बता रहे हैं पांचों राज्यों की मतगणना (vote counting) के बारे में कुछ विशेष बातें-
मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश में विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly Election Result 2018) की सभी 230 सीटों पर मंगलवार को सीसीटीवी की निगरानी में मतगणना होगी। मतगणना (vote counting) के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को चुनाव हुए थे।
मध्य प्रदेश में सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती (Postal ballot) होगी। इसके बाद सुबह साढ़े आठ बजे से ईवीएम (evm) के वोटों की गिनती होगी। यहां मतगणना औसतन 22 राउंड में पूर्ण होगी। अधिकतम 32 राउण्ड मतगणना इदौर-5 विधानसभा क्षेत्र में होगी, जबकि न्यूनतम 15 राउंड मतगणना अनूपपुर जिले की कोतमा विधानसभा सीट में होगी।
इस चुनाव में कुल 5,04,95,251 मतदाताओं में से 3,78,52,213 मतदाताओं यानी 75.05 प्रतिशत ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।
मतगणना के साथ ही 1,094 निर्दलीय उम्मीदवारों सहित कुल 2,899 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला हो जाएगा, जिनमें से 2,644 पुरूष, 250 महिलाएं एवं पांच ट्रांसजेंडर शामिल हैं।
भाजपा ने सभी 230 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं जबकि कांग्रेस ने 229 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं और एक सीट अपने सहयोगी शरद यादव के लोकतांत्रिक जनता दल के लिये छोड़ी है।
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) अपनी परंपरागत सीट बुधनी (budhni result) से चुनावी मैदान में है और उनके खिलाफ कांग्रेस ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव (arun yadav) को मैदान में उतारा गया है।
राजस्थान
राजस्थान में विधानसभा चुनाव (rajasthan assembly election result 2018) की मतगणना (vote counting) इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और लगभग 20,000 कर्मचारी सुबह आठ बजे से यह काम शुरू करेंगे।
राजस्थान में में कुल 35 केंद्रों पर वोटों की गिनती होगी। इनमें से जयपुर और जोधपुर में दो-दो केंद्रों पर तथा बाकी 31 जिलों में एक-एक केंद्र बनाया गया है।
राजस्थान की कुल 200 में से 199 सीटों के लिए मतदान सात दिसंबर को हुआ था। राजस्थान में मतगणना की शुरुआत डाक मतों की गिनती से होगी और उसके बाद ईवीएम से गणना की जाएगी।
राजस्थान में इस बार पहली बार राज्य के सभी सार्वजनिक स्थलों पर लगी हुई लगभग 350 एलईडी स्क्रीनों पर भी मतगणना के रुझान और परिणाम प्रदर्शित किए जाएंगे।
साल 2013 के विधानसभा चुनाव (assembly elections 2018) में भाजपा को कुल 163 सीटें मिलीं थी। इसके अलावा कांग्रेस को 21, बसपा को तीन, एनपीपी को चार एवं निर्दलीय तथा अन्य को नौ सीटें मिलीं थी।
राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 (rajasthan assembly elections 2018) के लिए कुल 74.21% मतदाताओं ने अपने मतदान का प्रयोग किया था। राजस्थान में कुल 4,74,37,761 मतदाता हैं और कुल 2274 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।
छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (chhattisgarh assembly election result 2018) की कुल 90 सीटों के लिए मंगलवार को सुबह 8 बजे से वाटों की गिनती (vote counting) होगी। इसके साथ ही राज्य में नई सरकार के गठन के लिए रास्ता साफ हो जाएगा।
छत्तीसगढ़ में मतगणना के लिए 5184 गणनाकर्मी और 1500 माइक्रोऑब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं। प्रत्येक हॉल में मतगणना के लिए 14 मेज, रिटर्निंग ऑफिसर मेज और डाक मतपत्रों की गणना की मेज होगी।
छत्तीसगढ़ में मतगणना (chhattisgarh vote counting) और सारणीकरण की समस्त प्रक्रिया की वीडियोग्राफी होगी। मतगणना हॉल में प्रत्येक रिटर्निंग अफसर द्वारा सर्वप्रथम डाक मतपत्र की गिनती की जाएगी। डाक मतपत्र की गिनती प्रारंभ होने के 30 मिनट के बाद ईवीएम में दर्ज मतों की गिनती प्रारंभ की जाएगी।
छत्तीसगढ़ में 90 सीटों के लिए दो चरणों में 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान कराया गया था। जिसमें राज्य के 76.60 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है।
मंगलवार को मतगणना के साथ ही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह (raman singh), उनके मंत्रिमंडल के 11 सदस्यों, विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, कांकेर लोकसभा क्षेत्र के सांसद विक्रम उसेंडी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक, विपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस सांसद ताम्रध्वज साहू, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी समेत 1079 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा।
छत्तीसगढ़ में भाजपा और कांग्रेस के मध्य ही मुकाबला होता आया है लेकिन इस बार के चुनाव में अजीत जोगी की पार्टी ने बहुजन समाज पार्टी (bsp) के साथ गठबंधन कर मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है। कुछ सीटों में उनकी पार्टी का दखल होने के कारण मुकाबला रोचक हो गया है।
तेलंगाना
तेलंगाना विधानसभा चुनाव 2018 (telangana assembly election result2018) के लिए 1,821 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे और मंगलवार को होने वाली मतगणना (telangana vote counting) में इनके राजनीतिक भविष्य का फैसला होना है।
तेलंगाना में राज्य की कुल 119 विधानसभा सीटों के लिए सात दिसंबर को चुनाव हुए थे और इनमें 73.20 प्रतिशत मतदान हुआ था।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी रजत कुमार ने कहा कि मतगणना वाले दिन के लिए बंदोबस्त पूरे कर लिए गए हैं। स्ट्रांगरूम की सुरक्षा के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बल तैनात हैं। स्ट्रांगरूम में सारे ईवीएम रखे जाते हैं।
मिजोरम
मिजोरम विधानसभा चुनाव 2018 (mizoram assembly election result 2018) के लिए 28 नवंबर 2018 को 40 सीटों पर सुबह मतदान संपन्न हुआ था। मिजोरम में भी इस बार करीब 75 प्रतिशत मतदान दर्ज दर्ज किया गया था।
40 सीटों वाली मिजोरम विधासभा चुनाव (mizoram assembly elections) में 209 उम्मीदवार मैदान में हैं। 75 प्रतिशत मतदान के साथ लोगों ने अपना जनादेश (mandate) ईवीएम में सुरक्षित कर दिया है।
अगर मिजोरम की बात करें तो यहां मुख्य मुकाबला कांग्रेस और मिजो नेशनल फ्रंट (MNF) के बीच मुख्य मुकाबला रहने की उम्मीद जताई जा रही है। मिजोरम में फिलहाल कांग्रेस की सरकार हैं और पी ललथनहवला (Lal Thanhawla) मिजोरम के मुख्यमंत्री (mizoram cm) हैं। मिजोरम में इस बार कांग्रेस को सत्ता विरोधी लहर का सामना करना पड़ सकता है।
Share it
Top