Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आसाराम को सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली जमानत, पीड़ितों की 29 जनवरी से होगी सुनवाई

बलात्कार के केस में जेल में बंद आसाराम से जुड़े बलात्कार मामले में 29 जनवरी से सुनवाई शुरु होगी। आसाराम फिलहाल जेल में रहेंगे और कोर्ट इस मामले में अब 8 हफ्ते बाद सुनवाई करेगा।

आसाराम को सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली जमानत, पीड़ितों की 29 जनवरी से होगी सुनवाई

बलात्कार के केस में जेल में बंद आसाराम से जुड़े बलात्कार मामले में 29 जनवरी से सुनवाई शुरु होगी। आसाराम फिलहाल जेल में रहेंगे और कोर्ट इस मामले में अब 8 हफ्ते बाद सुनवाई करेगा।

इस मामले में 29 जनवरी को गुजरात की निचली अदालत में पीड़िता ने बयान दर्ज होने है। कोर्ट ने कहा कि पहले पीड़िता के बयान दर्ज हो और उसके बाद जमानत याचिका पर विचार किया जाएगा।

इसे भी पढ़ेंः लाभ का पद मामला: पूर्व केंद्रीय मंत्री और SC के पूर्व जज ने 'राष्ट्रपति' के फैसले पर उठाए सवाल

शुरूआत में जमानत याचिका खारिज करते हुए न्यायमूर्ति एन.वी. रमना और न्यायमूर्ति ए. एम. सप्रे ने कहा कि पीड़ितों के साथ सुनवाई पूरी होने के बाद याचिका दायर करने वाला फिर से संपर्क कर सकता है।

आसाराम की तरफ से कोर्ट में कहा गया कि उनकी उम्र ज्यादा हो चुकी है और स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी परेशानी भी है। ऐसे में जमानत याचिका पर जल्द सुनवाई होनी चाहिए। दरअसल गुजरात के गांधी नगर में रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट आसाराम की जमानत याचिका पर सुनवाई कर रहा है।

सुनवाई में देरी से उठे सवाल

पिछली सुनवाई में कोर्ट ने आसाराम के खिलाफ धीमी सुनवाई पर सवाल उठाए और गुजरात सरकार से पूछा था कि मामले की सुनवाई में देरी क्यों हो रही है? सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा है कि अभी तक पीड़ित के बयान क्यों नहीं दर्ज किए गए। सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को कहा है कि हलफनामा दायर कर केस की प्रगति के बारे में बताए।

जमानत याचिका की अर्जी

दरअसल आसाराम ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत की अर्जी लगाई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने अर्जी को ठुकराते हुए कहा था कि जब तक केस के गवाहों के बयान ट्रायल कोर्ट में दर्ज नहीं हो जाते, वो मामले की सुनवाई नहीं करेगा। आसाराम को जोधपुर पुलिस ने 31 अगस्त, 2013 को गिरफ्तार किया। वह तभी से जेल में बंद है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top