Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हजारों करोड़ का कंपनियों ने नहीं भरा टैक्स, जांच के लिए समिति बनाएंगे जेटली

इनकम टैक्स विभाग ने कर चुकाने में असफल रहने वाले इन 31 नामों को चीफ इनकम टैक्स कमिश्नर की सील के तहत पब्लिश किया है।

हजारों करोड़ का कंपनियों ने नहीं भरा टैक्स, जांच के लिए समिति बनाएंगे जेटली
X

लंदन. विदेशी निवेशकों पर एमएटी कर के प्रतिकूल असर पर लगाम कसने के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि भारत सरकार अतीत के कराधान के मुद्दों को सुलझाने के लिए एक उच्चस्तरीय समिति बनाएगी। जेटली ने फाइनेंशियल टाइम्स में एक लेख में लिखा कि हमें कराधान को लेकर यूं तो केवल विरासत में मिले मुद्दे परेशान कर रहे हैं लेकिन हमें लगता है कि इन पर तत्काल विराम लगना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं एक उच्चस्तरीय समिति के गठन पर विचार कर रहा हूं जो पता लगाएगी कि अतीत के मुद्दों के समाधान के लिए क्या किया जा सकता है और इससे आगे इस तरह बढ़ा जाए कि निवेशकों को वास्तविक पूर्वानुमान तथा निश्चिंतता मिले।

1,000 करोड़ रुपये बगैर दावे के पड़े डाकघर में, कोई नहीं है दावेदार

टैक्स नहीं चुकाने वाली कंपनियों के नाम को सार्वजनिक करने और उनको शर्मिंदा करने के अपने कदम के तहत इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने रविवार को ऐसे 31 लोगों के नाम पब्लिश किए, जिन्हें 1,500 करोड़ रुपये से ज्यादा टैक्स चुकाना है । अखबारों में ऐसे लोगों के नाम, उनका आखिरी पता और फाइनैंशल स्टेटस पब्लिश किए गए हैं और डिपार्टमेंट ने इसमें यह जिक्र किया है कि या तो ये नॉन टैक्सपेयर्स लापता हैं या फिर टैक्स अधिकारियों को बकाया वसूली के लिये इनके नाम पर अपर्याप्त संपत्तियां मिली हैं।
विभाग ने कर चुकाने में असफल रहने वाले इन 31 नामों को चीफ इनकम टैक्स कमिश्नर की सील के तहत पब्लिश किया है। टैक्स का भुगतान न करने वालों की आयकर विभाग द्वारा प्रकाशित यह दूसरी लिस्ट है। इससे पहले सरकार ने आक्रमक रुख अपनाते हुए 18 टैक्स डिफॉल्टर्स के नाम प्रकाशित किए थे। उनलोगों पर 500 करोड़ रुपये बकाया थे।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story