Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जेटली ने किया जीएसटी दरों में बदलाव का ऐलान, 18 फीसदी दर की स्लैब में आईं 178 वस्तुएं

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद लोगों को बड़ी राहत देने का ऐलान किया।

जेटली ने किया जीएसटी दरों में बदलाव का ऐलान, 18 फीसदी दर की स्लैब में आईं 178 वस्तुएं

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद जीएसटी की दरों में बदलाव का ऐलान किया। खास बात यह है कि 178 वस्तुओं को अब 18 फीसदी के स्लैब में डाल दिया गया है। इससे बहुत सी चीजें सस्ती हो गई हैं।

पढ़ें: 'पद्मावती' पर आचार्य धर्मेंद्र का शाह को खत, लिखा- भंसाली का यह कुकर्म अक्षम्य अपराध

28 फीसदी स्लैब में अब 50 लग्जरी चीजें

वित्त मंत्री ने कहा कि रोजमर्रा की ज्यादातर वस्तुओं से जीएसटी दरें कम कर दी गई हैं। अब सिर्फ 227 वस्तुओं में से 50 पर ही 28 फीसदी की दर से जीएसटी लगाया जाएगा। 28 फीसदी स्लैब में अब सिर्फ लग्जरी चीजें हैं।

यह भी पढ़ें: गुजरात जनचेतना मंच ने वीवीपैट नियम को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

कितने आइटम किस स्लैब में आए

वित्त मंत्री ने कहा कि 6 आइटम 18 फीसदी टैक्स स्लैब से 5 फीसदी टैक्स स्लैब में लाए गए हैं। 13 वस्तुओं को 18 फीसदी स्लैब से 12 फीसदी जीएसटी स्लैब में लाया गया है। 13 चीजों को 12 फीसदी स्लैब से 5 फीसदी में डाला गया है। 5 फीसदी दर वाले 6 आइटम को शून्य कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें:किसानों ने पराली जलाई तो जिम्मेदार अधिकारियों की कटेगी सैलरी : एनजीटी

रेस्टारेंट कारोबारियों को दी बड़ी राहत

रेस्टारेंट कारोबारियों को राहत देते हुए जेटली के कहा कि अब सभी तरह के रेस्टारेंट में 5 फीसदी की दर से ही जीएसटी लगेगा। इस तरह एसी और नॉन-एसी रेस्तरां में 5 फीसदी दर से ही जीएसटी लगेगा। इससे पहले यह दर 12 से 18 फीसदी थी।

यह भी पढ़ें: मुस्लिम महिला योग टीचर के बचाव में उतरे योग गुरु बाबा रामदेव

स्टार होटलों में जीएसटी की दर 18 फीसदी

इसके साथ ही जेटली ने साफ किया कि अब किसी भी रेस्टारेंट को आईटीसी का कोई लाभ नहीं मिलेगा। स्टार होटलों में जीएसटी की दर 18 फीसदी होगी। यहां होटल इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ ले सकते हैं।

जीएसटी की परिवर्तित दरें 15 नवंबर से लागू

23वीं जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जीएसटी की परिवर्तित दरें तत्काल लागू नहीं होंगी। इन्हें 15 नवंबर से लागू किया जाएगा।

सैनिटरी नैपकिंस को अब भी नहीं मिली राहत

खास बात यह है कि ब्यूटी प्रोडक्ट्स पर जीएसटी दरों को कम किया गया है, लेकिन सैनिटरी नैपकिंस पर जेटली ने कोई राहत नहीं दी है। महिलाएं सैनिटरी नैपकिंस पर राहत की उम्मीद किए हुई थीं।

Share it
Top