Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नोटबंदी करने का बताया उद्देश्य

वित्त और कोरपोरेट मामले मंत्री अरूण जेटली ने गुरूवार को कहा कि विमुद्रिकरण करने का हमारा उद्देश्य केवल देश में गैर-जमा काला-धन को हर हाल जमा करना था।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नोटबंदी करने का बताया उद्देश्य

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरूवार को कहा कि नोटबंदी (विमुद्रिकरण) करने का हमारा उद्देश्य केवल देश में गैर-जमा काला-धन को हर हाल जमा करना था। नोटबंदी का एक बड़ा उद्देश्य ये भी था कि जो लोग गैर कानूनी तरीके से टेक्स के दायरे में नहीं आ रहे थे, उन अनुपालन न करने वाले लोगों को अर्थव्यवस्था का औपचारिकरण करना और काले धन को स्पष्ट झटका देना था।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि एक बार में इतने बड़े पैमाने पर नकद पैसा जमा होना ये दिखाता है कि जो लोग गुमनाम थे वे उजागर हो गए है। जांच से पता चला कि 1.8 मिलियन जमाकर्ताओं की पहचान की गई है। उन पर कई तरह के टेक्स के साथ जुर्माना लगाया जा रहे हैं। किसी बैंक में पैसा जमा करने से यह अनुमान नहीं निकलता है कि यह टैक्स पेड पैसा है।

उन्होंने आगे कहा कि आईटी रिटर्न की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है मार्च 2014 में यह 3.8 करोड़ थी। 2017-18 में यह आंकड़ा 6.86 करोड़ हो गया है। बढ़ती अर्थव्यवस्था के सबूत के साथ नोटबंदी का प्रभाव का प्रतिबिंबित हो गया है।

नोटबंदी के बाद दर्ज नई रिटर्न की संख्या पिछले दो वर्षों में 85.51 लाख और 1.07 करोड़ रुपये बढ़ी है। आयकर संग्रह 2013-14 के आंकड़े 6.38 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 2017-18 के आंकड़े 10.02 लाख करोड़ रुपये हो गए हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि जो डेटा के आकड़े सामने है वे समझदार को खुद बताता हैं। इसमें किसी को समझाने की कोई जरूरत नहीं है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top