Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वरदा तूफान: सेना मुस्तैद- 8000 लोग रिलीफ कैंपों में शिफ्ट

नौसैन्य अड्डों आइएनएस रजाली और डेगा में नौसेना के विमानों को भी स्टैंडबाय कर दिया गया है।

वरदा तूफान: सेना मुस्तैद- 8000 लोग रिलीफ कैंपों में शिफ्ट
X
नई दिल्ली. चक्रवाती तूफान वरदा की तमिलनाडु में दस्तक देने के बाद हुए नुकसान के बीच मदद पहुंचाने के लिए सशस्त्र सेनाएं पूरी तरह से मुस्तैद हैं। थलसेना, नौसेना और तटरक्षकबल ने अपने सैन्य कॉलम, नौकाआें, युद्धपोतों और जहाजों को चैन्नई के आसपास स्टैंडबाय की स्थिति में तैनात कर दिया है। इसके अलावा नौसेना की पूर्वी कमांड के प्रमुख (एफओसी-इन-सी) वाइस एडमिरल एच.सी.एस बिष्ट ने सोमवार को राहत एवं बचाव अभियान के तहत कमांड की तैयारियों की समीक्षा की है। अभी तूफान चेन्नई के पूर्व में 80 किलोमीटर पर पहुंच गया है। अनुमान है कि दोपहर बाद भूस्खलन भी हो सकता है। यहां राजधानी में मौजूद सेनाओं के मुख्यालय की ओर मिली जानकारी के मुताबिक वरदा से राहत एवं बचाव कार्य में मदद पहुंचाने के लिए थलसेना के कुल सात कॉलम स्टैंडबाय की स्थिति में हैं। इसमें से एक कॉलम चक्रवात प्रभावित तिरूवल्लूर की ओर चेन्नई से रवाना हो गया है। तिरूवल्लूर की दूरी चेन्नई से उत्तर में 50 किलोमीटर है। वहीं नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने कहा कि दो लोगों की मौत हो गई है। 8008 लोगों को 95 रिलीफ कैंपों में शिफ्ट किया गया है।
‘ऑपरेशन मदद’ के तहत राहत एवं बचाव कार्य में सहायता देने के लिए नौसेना के दो जंगी युद्धपोत आईएनएस शिवालिक और कदमत सोमवार सुबह विशाखापट्टनम से चेन्नई की ओर रवाना हो गए हैं। इन पोतों में मेडिकल की अतिरिक्त टीमें, गोताखोर, पानी में आसानी से बहने वाली रबर की नौकाएं, हेलिकॉप्टर, पीडितों के लिए खाना, दवाएं, कपड़े, टैंट और कंबल भेजे गए हैं। बल की ओर से अन्य जहाजों को भी स्टैंडबाय की स्थिति में तैनात किया गया है। शिवालिक और कदमत पर गोताखोरों की दस टीमें तैनात की गई हैं। इसके अलावा स्थानीय प्रशासन से बातचीत के आधार पर तमिलनाडु एंड पुड्डुचेरी के नौसैन्य एरिया के फ्लैग ऑफिसर गोताखोरों की छह टीमों के साथ मदद के लिए तैयार हंै।
विशाखापट्टनम में 22 टीमों की अतिरिक्त तैनाती की गई है। राहत स्थानों की पहचान कर मेडिकल टीमों की स्टैंडबाय तैनाती कर दी गई है। आवश्यकता के हिसाब से बंदरगाह का सर्वे करने के लिए एक सर्वे जहाज को भी स्टैंडबाय रखा गया है। नौसैन्य अड्डों आइएनएस रजाली और डेगा में नौसेना के विमानों को भी स्टैंडबाय कर दिया गया है। तटरक्षकबल ने 4 जहाज, 6 फास्ट पैट्रोल वेसल को विशाखापट्टनम, चेन्नई और कराईकल में स्टैंडबाय रखा है। 4 डार्नियर विमान और 2 चेतक हेलिकॉप्टरों को स्टैंडबाय पर रखा गया है। बल प्राधिकरण राज्य के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ लगातार संपर्क में है। आंध्र तट के पास अभियान चलाने के लिए बल के एक जहाज को रवाना कर दिया गया है। बल की रैपिड रिस्पांस टीम, नौकाआें, प्रशिक्षित कर्मियों के साथ तत्काल मदद पहुंचाने को तैनात कर दिए गए हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story