Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Army Day 2019 : सेना दिवस की 16 खास बातें, जानें भारत-पाकिस्तान और चीन के हथियार के बारें में

15 जनवरी 1949 से भारतीय सेना हर साल सेना दिवस (Army Day) मनाती है। 26 जनवरी, गणतंत्र दिवस 2019 (Republic Day 2019) से पहले आज 15 जनवरी 2019 को भारतीय सेना, सेना दिवस 2019 (Army Day 2019) मन रही है। जानिए भारतीय सेना दिवस की 16 खास बातें और भारत-पाकिस्तान और चीन में किसके पास कौन से हथियार हैं।

Army Day 2019 : सेना दिवस की 16 खास बातें, जानें भारत-पाकिस्तान और चीन के हथियार के बारें में

Army Day 2019

15 जनवरी 1949 से भारतीय सेना हर साल सेना दिवस (Army Day) मनाती है। 26 जनवरी, गणतंत्र दिवस 2019 (Republic Day 2019) से पहले आज 15 जनवरी 2019 को भारतीय सेना, सेना दिवस 2019 (Army Day 2019) मन रही है। ऐसे में हरिभूमि की डिफेंस रिपोर्टर कविता जोशी की स्पेशल रिपोर्ट में पेश है सेना दिवस की झलकियां और जानिए भारतीय सेना दिवस की 16 खास बातें और भारत-पाकिस्तान और चीन में किसके पास कौन से हथियार हैं...

भारतीय सेना दिवस की 16 खास बातें

1 जनरल के़ एम़ करियप्पा ने 15 जनवरी 1949 को कार्यभार संभालते वक्त जय हिंद को भारतीय सेना में परस्पर अभिवादन के लिए अपनाया और आज यह हमारी परंपरा है।

2 1971 में हारने के बाद आत्मसर्मपण कर चुकी पाकिस्तानी फौज ने भारतीय सेना की पूर्वी कमांड के प्रमुख ले़ जनरल जी़ एस़ अरोड़ा को गार्ड ऑफ आर्नर भी दिया था।

3 दूसरे विश्वयुद्ध में बतौर कप्तान बर्मा के र्मोचे पर लड़ते हुए मानेकशॉ के पेट में 7 गोलियों लगी थीं। उनकी बहादुरी को देखते हुए तत्कालीन डिवीजन कमांडर ने उन्हें अपना मिलिट्री क्रॉस चिन्ह सम्मान के रूप में दे दिया था।

4 सेना की औपचारिक स्थापना वर्ष 1776 में कोलकात्ता में ईस्ट इंडिया कंपनी ने की थी।

5 के़ एम़ करियप्पा और बिपिन रावत के बीच केवल दो सेनाध्यक्ष हुए हैं जिन्हें फील्ड मार्शल की उपाधि दी गई थी। इसमें करियप्पा और सैम बहादुर मानेकशॉ शामिल हैं। ये कभी रिटायर नहीं होते और इनकी गाड़ी पर हमेशा फाइव स्टार लगे रहते हैं।

6 गोरखा राइफल्स में कर्नल बनने के बाद सैम मानेकशॉ जब एक गोरखा टुकड़ी की सलामी ले रहे थे। तो उन्होंने एक हवलदार से पूछा तेरा नाम क्या है? उसने कहा हरका बहादुर गुरुंग। फिर सैम बोले मेरा नाम क्या है? वो कुछ देर रूककर बोला सैम बहादुर। तभी से वो सैम बहादुर मानेकशॉ के नाम से प्रसिद्ध हो गए।

7 सेना में एक घुड़सवार रेजीमेंट है। दुनिया में अब इस तरह की रेजीमेंट केवल तीन देशों के पास है। जिसमें भारत भी शामिल है।

8 राष्ट्रपति के अंगरक्षक सेना के सबसे पुराने दल हैं। इसे 1773 में गठित किया गया था। अभी यह राष्ट्रपति भवन में तैनात है।

9 असम राइफल्स सेना की सबसे पुरानी अर्धसैनिक टुकड़ी है। इसका गठन 1835 में किया गया था।

10 लद्दाख में द्रास और सुरू नदी के बीच बना बेली ब्रिज दुनिया का सबसे ऊंचा ब्रिज है। इसे सेना ने वर्ष 1982 में बनाया था।

11 जंगलों में लड़ने के मामले में भारतीय सेना को दुनिया की श्रेष्ठतम सेना माना जाता है। भारत की इस खूबी को जानने के लिए अमेरिका, रूस और ब्रिटेन जैसे देश अक्सर अपनी सैन्य टुकड़ियों को प्रशिक्षण के लिए भारत भेजते हैं।

12 अमेरिका और चीन के बाद भारतीय सेना दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सेना है।

13 1971 के लोंगेवाला के युद्ध में पाकिस्तान के 2 हजार सैनिकों से भारतीय सेना के 120 जवानों की कंपनी ने लोहा लिया था और उसमें केवल दो लोग घायल हुए थे।

14 सेना में भारतीय सैनिक अपनी मर्जी से शामिल होते हैं। हालांकि संविधान में जबरन भर्ती का प्रावधान भी है। लेकिन अभी तक उसकी जरूरत नहीं पड़ी है।

15 आर्मी डे के मौके पर दिल्ली कैंट के करियप्पा ग्राउंड पर सेना द्वारा एक भव्य परेड निकाली जाती है। इसकी सलामी सेनाध्यक्ष लेते हैं।

16 आजाद भारत की सेना में 21 वीरों को सर्वोच्च सैन्य सम्मान परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया है।

भारत-पाकिस्तान और चीन की सेनाओं के बीच सामरिक तुलना-

भारत के पास परमाणु हथियार-130

चीन के पास परमाणु हथियार- 270

पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार- 140

चीन के पास टैंक-7716, भारत के पास टैंक- 4426, पाकिस्तान के पास टैंक- 2182

चीन के पास तोपें-6246, भारत के पास तोपें-4158, पाकिस्तान के पास तोपें-1240

(डेटा का स्रोत- ग्लोबलफायर पावर डॉट काम)

Loading...
Share it
Top