Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Army Day 2019: ब्रिटिश आर्मी से इंडियन आर्मी तक का सफर

इंडियन आर्मी (Indian Army) का गठन 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में किया था। आज भारतीय सेना के 53 कैंटोनमेंट और 9 आर्मी बेस हैं। आज इंडियन आर्मी डे ( Indian Army Day 2019) है। हर साल आर्मी डे (Army Day) सेना कमान और दिल्ली के मुख्यालय में 15 जनवरी को मनाया जाता है । आज के दिन उन शहीदों को याद किया जाता है। जिन्होंने देश की संप्रभुता और शांति की रक्षा के लिए अपना बलिदान दिया।

Army Day 2019: ब्रिटिश आर्मी से इंडियन आर्मी तक का सफर

Indian Army Day 2019

इंडियन आर्मी (Indian Army) का गठन 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में किया था। आज भारतीय सेना के 53 कैंटोनमेंट और 9 आर्मी बेस हैं। आज इंडियन आर्मी डे ( Indian Army Day 2019) है। हर साल आर्मी डे (Army Day) सेना कमान और दिल्ली के मुख्यालय में 15 जनवरी को मनाया जाता है । आज के दिन उन शहीदों को याद किया जाता है। जिन्होंने देश की संप्रभुता और शांति की रक्षा के लिए अपना बलिदान दिया। हर साल 15 जनवरी को जवानों के दस्ते और अलग-अलग रेजिमेंट की परेड होती है और झांकियां निकाली जाती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सेना दिवस क्यों मनाया जाता है।

इंडियन आर्मी डे क्यों मनाया जाता है

देश के लिए शहीद होने वाले सैनिकों की याद में इंडियन आर्मी डे मनाया जाता है। लेकिन यह सिर्फ इतना ही नहीं है। इस इंडियन आर्मी जनरल "फील्ड मार्शल के एम करियप्पा" (Field Marshal KM Cariappa) नें ब्रिटिश सेना के जनरल रॉय बुचर (General Francis Butcher) से उत्तराधिकार लिया था।

जिसके बाद वह स्वतंत्र भारत के पहले कमांडर-इन-चीफ बने थे। उत्तराधिकार के बाद जो सेना ब्रिटिश शासन के अधीन थी वह भारत के लिए हो गई थी। इसी कारण से हर साल इंडियन आर्मी डे मनाया जाता है। के एम करियप्पा स्वतंत्र भारत के पहले जनरल तो थे ही वह स्वतंत्र भारत के पहले फील्ड मार्शल भी बने थे।

इंडियन आर्मी के सैनिक हर मुश्किल घड़ी में भारतीय सीमाओं के साथ-साथ प्राकृतिक आपदाओं से लड़ने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। इंडियन आर्मी उन सभी चुनौतियों और कठिनाइयों का सामना करते हैं जो देश और लोगों को बचाने के लिए आते हैं। आर्मी के इसी साहस को सम्मान देने के इंडियन आर्मी डे हर साल मनाया जाता है।

Army Day 2019: भारतीय सेना की ये 5 खासियत बनाती हैं उन्हें 'जवान'

इस साल इंडियन आर्मी अपना 71वां आर्मी डे मना रहा है। इंडियन आर्मी डे 2019 ( Indian Army Day 2019) की खास बात ये है। कि आर्मी परेड (Army Day Parade 2019) का नेतृत्व एक महिला अफसर ने किया। लेफ्टिनेंट भावना कस्तूरी (Lieutenant Bhavana Kasturi) ने किया।

जनरल साहब की चेतावनी

आर्मी दिवस के मौके पर थल सेना प्रमुख बिपिन रावत ने आतकंवादी गतिविधियों पर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है। इस मौके पर रावन ने कहा कि सीमा पार से होने वाली हर घुसपैठ का सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है और देगी।

इंडियन आर्मी डे परेड

आर्मी डे के दौरान आर्मी डे का समारोह भारतीय सेना के सैनिकों (भारतीय सेना के बैंड) द्वारा किया जाता है। जिसमें बीएलटी टी -72, टी -90 टैंक, ब्रह्मोस मिसाइल, मालवाहक मोर्टार ट्रैक्ड व्हीकल, 155 एमएम सोलटन गन, उन्नत शामिल हैं आर्मी एविएशन कॉर्प्स और आदि के लाइट हेलिकॉप्टर। भारतीय सेनाओं की सेवा करने वाले इस दिन अपनी सेवा को बनाए रखने और दुश्मनों से देश की रक्षा करने का संकल्प लेते हैं चाहे वे विदेशी हों या घरेलू।

Happy Army Day 2019 : कौन थे फील्ड मार्शल केएम करियप्पा

इंडियन की खास बातें

इंडियन आर्मी दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आर्मी है।

इंडियन आर्मी के पास 1,129,900 सक्रिय सैनिक और 960,000 आरक्षित सैनिक हैं।

इंडियन आर्मी सियाचिन ग्लेशियर में काम करती है जो समुद्र तल से लगभग 5000 मीटर ऊपर है। ग्लेशियर को दुनिया का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र माना जाता है।

इंडियन आर्मी के पास घुड़सवार घुड़सवार रेजिमेंट है और यह रेजिमेंट दुनिया की ऐसी अंतिम तीन रेजिमेंटों में से है।

रॉयल इंडियन आर्मी के सिपाही कमल राम उन्नीस साल की उम्र में दूसरे विश्व युद्ध में अपनी वीरता के लिए विक्टोरिया क्रॉस प्राप्त करने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय थे।

Share it
Top