Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सेना प्रमुख बिपिन रावत के बयान पर AIUDF और AIMIM नेताओं ने किया पलटवार

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बांगलादेशी नागरिकों की असम में घुसपैठ और ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट पर दिए बयान पर सियासी गलियारों में हलचल मच गई है।

सेना प्रमुख बिपिन रावत के बयान पर AIUDF और AIMIM नेताओं ने किया पलटवार

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बांगलादेशी नागरिकों की असम में घुसपैठ और ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट पर दिए बयान पर सियासी गलियारों में हलचल मच गई है।

इसे भी पढ़े :एक इंटरव्यू के दौरान शरद पवार ने राज ठाकरे से कहा, 'कांग्रेस के अच्छे दिन' आने वाले हैं

AIUDF प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने इस बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि प्रमुख बिपिन रावत ने एक चौकाने वाला राजनीतिक बयान दिया है। सेना प्रमुख को चिंता क्यों है कि बीजेपी की तुलना में लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष मूल्यों पर आधारित एक राजनीतिक पार्टी तेजी से बढ़ रही है?

बिपिन रावत ने कहा कि बड़ी राजनीतिक पार्टियों के गलत रवैए की वजह से एक सेमिनार में बोलते हुए सेना प्रमुख ने यहां पर बांग्लादेशी घुसपैठ के बारे में कहा कि उत्तर-पूर्व में बांग्लादेश से हो रही घुसपैठ के पीछे हमारे पश्चिमी पड़ोसी की छद्म नीति ज़िम्मेदार है।

जनरल रावत ने कहा है कि इस काम में हमारे पश्चिमी पड़ोसी को उत्तरी पड़ोसी का साथ मिल रहा है. उन्होंने कहा है कि उत्तर पूर्व की समस्याओं का समाधान वहां के लोगों को देश की मुख्यधारा में लाकर विकास करने से मुमकिन है। AIUDF और AAP जैसी वैकल्पिक पार्टियां तेजी से आगे बढ़ी हैं।

उन्होंने आगे कहा है कि इस तरह का बयान देकर सेना प्रमुख क्या खुद को राजनीति में शामिल नहीं कर रहे हैं? जो कि संविधान के खिलाफ है।

सेना प्रमुख के बयान पर AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि आर्मी चीफ को राजनीतिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए, किसी राजनीतिक पार्टी के उदय पर बयान देना उनका काम नहीं है। लोकतंत्र और संविधान इस बात की इजाजत देता है कि सेना हमेशा एक निर्वाचित नेतृत्व के तहत काम करेगी।

बता दे कि सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा था कि जितनी तेजी से देश में बीजेपी का विस्तार नहीं हुआ उतनी तेजी से असम में बदरुद्दीन अजमल की पार्टी एआईयूडीएफ बढ़ी है।उन्होंने आगे कहा कि इलाके में होने वाली बांग्लादेशी घुसपैठ और जनसांख्यिकी परिवर्तन को समझाने के लिए उदाहरण दे रहे थे. उन्होंने कहा कि घुसपैठ होने का एक बड़ा कारण जमीन पर कब्जा जमाना भी है।

एक सेमिनार में बोलते हुए सेना प्रमुख ने यहां पर बांग्लादेशी घुसपैठ के बारे में कहा कि उत्तर-पूर्व में बांग्लादेश से हो रही घुसपैठ के पीछे हमारे पश्चिमी पड़ोसी की छद्म नीति ज़िम्मेदार है।

जनरल रावत ने कहा है कि इस काम में हमारे पश्चिमी पड़ोसी को उत्तरी पड़ोसी का साथ मिल रहा है। उन्होंने कहा है कि उत्तर पूर्व की समस्याओं का समाधान वहां के लोगों को देश की मुख्यधारा में लाकर विकास करने से मुमकिन है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top