logo
Breaking

हनी ट्रैप में फंसने के डर से हम जवानों के फेसबुक चलाने पर रोक नहीं लगा सकतेः जनरल बिपिन रावत

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने बृहस्पतिवार को वार्षिक प्रेस वार्ता की। इसमें उन्होंने कहा कि हम कश्मीर में शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि हमारे कई सैनिकों की बहुत बुरी हालत है। क्योंकि वो सभी युद्ध में थे। युद्ध में जो जख्मी हो जा रहे हैं उनका हाल बेहद खराब है।

हनी ट्रैप में फंसने के डर से हम जवानों के फेसबुक चलाने पर रोक नहीं लगा सकतेः जनरल बिपिन रावत
सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने बृहस्पतिवार को वार्षिक प्रेस वार्ता की। इसमें उन्होंने कहा कि हम कश्मीर में शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि हमारे कई सैनिकों की बहुत बुरी हालत है। क्योंकि वो सभी युद्ध में थे। युद्ध में जो जख्मी हो जा रहे हैं उनका हाल बेहद खराब है।
उनके परिवारों का हाल बेहद खराब है। इसी लिए हमने साल 2018 को इन जख्मी जवानों को समर्पित किया। हमने सालभर में उन जवानों की मदद की है जिन्हें सच में मदद की जरूरत है।
पाकिस्तान के मुद्दे पर कहा कि पाकिस्तान आतंकियों को भारत की सीमा में लगातार आतंक बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। पाकिस्तान द्वारा भारतीय ड्रोन को गिराए जाने को उन्होंने सही बताया। उन्होंने विस्तार से इस बात पर चर्चा की। जनरल बिपिन रावत ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों को भारत की सीमा में भेजने के लिए सीजफायर का उल्लंघन करता रहता है।
300 आतंकी घुसपैठ की फिराक में हैं। आतंकी सीम पर आकर लैंड माइन और IED बम लगा देते हैं। अब ऐसे में अगर जवान वहां जाते हैं तो वह घायल हो सकते हैं। बम फट सकता है। इस लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जाता है। निगरानी के लिए क्वॉडकॉप्टर्स (ड्रोन) कई बार पाकिस्तान की सीमा में चले जाते हैं। तो पाकिस्तानी उसे गोली मार देते हैं। यह कोई इतनी बड़ी बात नहीं है।
जवान लगातार फेसबुक से हनी ट्रैप में फंस रहे हैं, क्या फेसबुक के इस्तेमाल पर रोक लगेगी? इस सवाल पर जनरल विपिन रावत ने कहा कि किसी भी व्यक्ति को सोशल मीडिया के इस्तेमाल से नहीं रोका जा सकता। लेकिन हमने एडवायजरी जारी की है। ताकि सैनिक हनीट्रैप में फंसने से बचें।
हमने जवानों को कह रखा है कि जिसे आप नहीं जानते अगर उसकी ओर से कोई मैसेज आता है तो तत्काल सूचना दें। अगर आपको शक है कि हनी ट्रैप में कोई फंसा रहा है, या फंस चुके हैं तो भी सूचना दें। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना एक बेहद प्रोफेशन आर्मी है। हम कभी भी सिविलियन को टारगेट नहीं करते हैं।
Loading...
Share it
Top