Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब बॉर्डर पर जंग लड़ेंगी महिलाएं, आर्मी चीफ ने दिए संकेत

अभी सिर्फ जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, अमेरिका, ब्रिटेन, डेनमार्क, फिनलैंड, फ्रांस, नॉर्वे, स्वीडन और इजरायल में महिलाएं कॉम्बैट रोल निभा रही हैं।

अब बॉर्डर पर जंग लड़ेंगी महिलाएं, आर्मी चीफ ने दिए संकेत
X

अब जल्द ही भारतीय महिलाएं भी बॉर्डर पर दुश्मनों से दो-दो हाथ करती हुईं नजर आएंगी। सेना प्रमुख जनरल बिपिन सिंह रावत महिलाओं को लड़ाई में भेजने के लिए तैयारी कर रहे हैं।

रावत ने कहा कि महिलाओं को कॉम्बैट रोल, जिसमें अभी तक केवल पुरुष ही होते हैं, देने की प्रकिया तेजी से बढ़ रही है। शुरुआत में महिलाओं को मिलिट्री पुलिस में शामिल किया जाएगा।

रावत ने कहा, 'मैं महिलाओं को जवान के रूप में देखना चाहता हूं। मैं इसे जल्द शुरू करने जा रहा हूं। सबसे पहले हम महिलाओं को मिलिट्री पुलिस जवान की भूमिका देंगे।'

अभी तक महिलाओं को सेना में मेडिकल, लीगल, एजुकेशनल, सिग्नल और इजिनियरिंग विंग्स में शामिल किया जाता है, लेकिन व्यावहारिक दिक्कतों की वजह से उन्हें कॉम्बैट रोल नहीं दिया गया है।

जनरल रावत ने कहा कि वह महिलाओं को जवान की भूमिका देने को तैयार हैं और इस मुद्दे को सरकार के सामने उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा, 'हम प्रक्रिया की शुरुआत कर चुके हैं।' सेना प्रमुख ने कहा कि नई भूमिका में आने के लिए महिलाओं को भी दृढ़ता और और मजबूती दिखानी होगी।

अभी तक जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, अमेरिका, ब्रिटेन, डेनमार्क, फिनलैंड, फ्रांस, नॉर्वे, स्वीडन और इजरायल में महिलाएं कॉम्बैट रोल निभा रही हैं। मिलिट्री पुलिस की भूमिका छावनी क्षेत्र और सैन्य प्रतिष्ठानों में पुलिसिंग की होती है।

सैनिकों को नियम कायदों को तोड़ने से रोकना, सैन्य मूवमेंट, युद्ध बंदियों को संभालना और जरूरत पड़ने पर सिविल पुलिस की मदद का काम भी मिलिट्री पुलिस के जवानों को करना होता है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story