Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कारगिल विजय दिवसः पाक जेल में मारे गए शहीद कैप्टन सौरभ के पिता का दर्द, बोले- राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने नहीं दिलाया इंसाफ, अब जाऊंगा सुप्रीम कोर्ट

कारगिल युद्ध के दौरान कैप्टन सौरभ का नाम उन शहीदों में दर्ज है जो कि अपनी जाबांजी से पाकिस्तान छाती पर मूंग दर दिए। लेकिन पाकिस्तान ने अंरराष्ट्रीय युद्ध नियमों व सिद्धांतों को ताक पर रखकर कैप्टन सौरभ को जेल में मौत की नींद में सुला दिया।

कारगिल विजय दिवसः पाक जेल में मारे गए शहीद कैप्टन सौरभ के पिता का दर्द, बोले- राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने नहीं दिलाया इंसाफ, अब जाऊंगा सुप्रीम कोर्ट

आज कारगिल युद्ध की यादें फिर आंखों को नम कर गई तो वहीं टाइगर हिल में लहराता तिरंगा हमारे दिलों में तूफां भर रहा है। कारगिल युद्ध के दौरान कैप्टन सौरभ का नाम उन शहीदों में दर्ज है जो कि अपनी जाबांजी से पाकिस्तान छाती पर मूंग दर दिए। लेकिन पाकिस्तान ने अंरराष्ट्रीय युद्ध नियमों व सिद्धांतों को ताक पर रखकर कैप्टन सौरभ को जेल में मौत की नींद में सुला दिया। खैर पाकिस्तान के लिए नियम-कानून तोड़ना कोई नई बात नहीं है।

इसे भी पढ़ें-कानपुर में शहीदों की याद में जलेगी अमर जवान ज्योति

कैप्टन सौरभ पाकिस्तान सेना के गिरफ्त में थे और उनको जेल में कैद कर रखा गया था। इनकी मौत के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, रक्षामंत्री तथा गृह मंत्री ने शहीद सौरभ के पिता से वादा किया था कि वे न्याय दिलाएंगे। लेकिन शहीद सौरभ के पिता ने विजय दिवस के मौके पर दुख और दर्द के साथ कहा कि उनके बेटे के लिए आवाज नहीं उठाई गई। उनके न्याय के लिए वादा किया गया लेकिन किसीने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुद्दे को नहीं उठाया है।

ऐसे में जाबांज सैनिक का पिता हार कैसे मान सकता है। सौरभ के पिता एनके कालिया ने कहा है कि वे अपने बेटे को न्याय दिलाने के लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। उनका कहना है कि आखिरकरा ये हमारे देश के मान-सम्मान और एक सैनिक का सवाल है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top