Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आज फिर भारत बंद: सोशल मीडिया से थमा पूरा देश, सुरक्षा के लिए अर्द्ध सैनिक बलों की 23 कंपनियां तैनात

2 अप्रैल को दलित संगठनो द्वारा भारत बंद के दौरान कई जगहों पर करीब 17 लोगों की मौत हो गई थी और सैंकड़ों लोग घायल हो गए थे।

आज फिर भारत बंद: सोशल मीडिया से थमा पूरा देश, सुरक्षा के लिए अर्द्ध सैनिक बलों की 23 कंपनियां तैनात

आक्षरण को लेकर देशभर में सियासी दंगल जारी है। सोशल मीडिया पर कुछ दिनों से चल रहे भारत बंद के आह्वान को देखते हुए देशभर में सुरक्षा के कडे बंदोबस्त किए गए है।

सोशल मीडिया पर चल रहे मेसेज के मुताबिक ये भारत बंद देश में आरक्षण समाप्त करने की मांग को किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक देशभर के करीब 20 संगठनों ने 10 अप्रैल को भारत बंद का ऐलान किया है।

इससे पहले 2 अप्रैल को दलित संगठनो द्वारा भारत बंद के दौरान कई जगहों पर करीब 17 लोगों की मौत हो गई थी और सैंकड़ों लोग घायल हो गए थे। मौत और आगजनी की घटनों के बाद आज के बंद को लेकर प्रशासन बेहद सख्त है।

इसे भी पढ़ें- भारत बंद: राजधानी में बंद कराने वाले संगठनों को रोकने के लिए 800 जवानों की तैनाती, होगी बड़ी कार्रवाई

बताया जाता है ककि केंद्र सरकार ने राज्यों को सुरक्षा और कानून व्यवस्था मजबूत करने की हिदायत दी है। गृह मंत्रालय हिदायत देते हुए कहा कि जहां कहीं भी हिंसा हुई, वहां उस इलाके के कलेक्टर और एसपी को इसके लिए निजी तौर पर जिम्मेदार ठहराया जाएगा।

सोशल मीडिया पर बंद का आह्वान

10 अप्रैल को भारत बंद का आह्वान केवल सोशल मीडिया पर चल रहा है, जिसकी जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है, लेकिन यह स्पष्ट कर दिया गया है शांति भंग करने वालो के खिलाफ सख्त कार्रवाही की जायेगी।

ये बंद का आह्वान केवल सोशल मीडिया पर दिया गया है और बंद के समर्थन में कोई भी संगठन आगे नहीं आया है।

कई जिलो में धारा 144 लागू

भारत बंद के दौरान संभावित खतरे को देखते हुए कई जिलों में धरा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस पिछले चार पांच दिनों से प्रमुख संगठनों, व्यापारिक संगठनों,यातायात संगठनों, राजनैतिक संगठनों और अन्य समूहों के साथ बैठक कर कानून व्यवस्था बनाये रखने का आग्रह कर रही है।

इसे भी पढ़ें- 'कर्नाटक विधानसभा चुनाव में सत्ता विरोधी लहर नहीं, सिद्धरमैया मुख्यमंत्री पद के सबसे प्रबल दावेदार'

मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद

देशभर में बंद के दौरान आगजनी और तोड़फोड़ की आशंका को देखते हुए आज रात से अगले 24 घंटों के लिए जयपुर समेत देश के कई जिलों में में इंटरनेट सेवाओं को बंद किया गया है।

बीएसएफ व सीआरपीएफ के जवान तैनात

राजस्थान के 13 जिलों में हिंसा को रोकने के लिए बीएसएफ की 20 कंपनियों को तैनात किया है। जानकारी के मुताबिक जालौर और भरतपुर में सबसे ज्यादा 3-3 तीन कंपनियों को तैनात लिया गया है।

बाड़मेर, सवाई माधोपुर और बीकानेर में 2-2 कंपनियां और जोधपुर ग्रामीण, नागौर, सीकर, जैसलमेर, डूंगरपुर, धौलपुर, भीलवाड़ा व करौली में 1-1 कंपनी को तैनात किया गया है।

मध्यप्रदेश में कर्फ्यू

10 अप्रैल को सोशल मीडिया द्वारा बुलाये गए भारत बंद के लिए मध्यप्रदेश के ग्वालियर और भिंड जिलों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। दलित संगठनों द्वारा 2 अप्रैल को बुलाये गए बंद के दौरान हुई हिंसा में यहाँ 8 लोगों की मौत हुई थी।

रायपुर में 800 जवान तैनात

छत्तीसगढ़ में 20 संगठनों ने इस बंद को समर्थन देने का ऐलान किया है। इन संगठनों को रोकने के लिए राजधानी में 800 पुलिस जवानों की तैनाती रहेगी।

पुलिस ने संगठन पदाधिकारियों को सख्त हिदायद दी है कि जबरिया बंद कराने की कोशिश की, तो सख्ती बरती जाएगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top