Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आप ने मोदी को लिखा पत्र, कहा- 1984 मामले की फिर से कराए जांच

आप ने पीड़ितों को इन्साफ दिलाने के लिए एक दिवसीय भूख हड़ताल करने का ऐलान किया है।

आप ने मोदी को लिखा पत्र, कहा- 1984 मामले की फिर से कराए जांच
नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी ने 1984 के सिख विरोधी दंगे की 32वीं बरसी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मांग की है कि 12 फरवरी, 2015 को केंद्र की भाजपा सरकार की ओर से दंगे के आरोपियों को सजा दिलाने के लिए गठित एसआइटी अगले तीन महीने में उन सभी मामलों को दोबारा खोले, जिसे पुलिस ने राजनीतिक दबाव में बंद कर दिए थे।
इसके साथ ही आम आदमी पार्टी ने अगामी तीन नवंबर को मोहाली में 1984 सिख कत्लेआम के पीड़ितों को इन्साफ दिलाने के लिए एक दिवसीय भूख हड़ताल करने का ऐलान किया है, जिस में पंजाब के कन्वीनर गुरप्रीत सिंह वड़ैच, मैंबर पार्लियामेंट भगवंत मान, एडवोकेट एचएस फूलका, हिम्मत सिंह शेरगिल, कंवर संधू, सुखपाल सिंह खहरा और विधायक जरनैल सिंह समेत अन्य नेता भाग लेंगे।
मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पार्टी के राजौरी गार्डन (दिल्ली) से विधायक और पंजाब मामलों के को-इंचार्ज जरनैल सिंह ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी जारी करते हुए कहा कि 32 सालों के बाद भी पीड़ित इन्साफ के लिए भटक रहे हैं, जबकि आरोपी सरेआम घूम रहे हैं। दिल्ली में पार्टी की 49 दिनों की सरकार के समय मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की कैबिनेट ने 1984 के आरोपियों को सजा दिलाने के लिए विशेष जांच टीम (एसआइटी) गठित करने का फैसला लिया था, लेकिन लोकपाल के मुद्दे पर 49 दिनों बाद सरकार चली गई।
अमर उजाला के अनुसार, 14 फरवरी 2015 को जब अरविन्द केजरीवाल की सरकार ने मुख्यमंत्री पद की फिर से शपथ लेनी थी तो दो दिन पहले 12 फरवरी 2015 को मोदी सरकार ने एसआइटी गठित करके अगले 6 माह में सभी केस फिर से खोलने का वायदा किया, परंतु आज 2 वर्ष बीत जाने के बावजूद कोई केस री-ओपन नहीं किया गया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
hari bhoomi
Share it
Top