Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''राष्ट्रपति कोई बने, हमारा दर्द नहीं मिटेगा, आज भी हमारी जान ले सकते हैं गौरक्षक''

दलित बालू दोनों ही प्रत्याशियों को दलित वर्ग का प्रतिनिधि करने वाला नहीं मानते हैं।

भारतीय जनता पार्टी ने एनडीए के रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बना दलित कार्ड खेला है। कोविंद को राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाते वक्त पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें गरीब दलित परिवार में जन्मा पार्टी का वरिष्ठ नेता कहा था।

जबकि बीजेपी के कोविंद कार्ड की काट के तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लोकसभा की स्पीकर रह चुकी दलित महिला मीरा कुमार को यूपीए का राष्ट्रपति प्रत्याशी बना दिया।

मीरा को राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी घोषित करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि उन्हें 'गर्व' है कि राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर विपक्ष की पसंद 'दलित' नेता हैं।

राष्ट्रपति पद पर सत्तापक्ष और विपक्ष ने दलित प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर भले ही मास्टरस्ट्रोक खेला हो। लेकिन आम जनता को उनका ये सियासी दांव अच्छे से समझ आ रहा है।

इस सिलसिले में गुजरात के ऊना में रहने वाले दलित बालू दोनों ही प्रत्याशियों को दलित वर्ग का प्रतिनिधि करने वाला नहीं मानते हैं। उल्लेखनीय है कि साल 2016 में 11 जुलाई को गुजरात के उना में बालू के दो बेटों और दो भतीजों की कथित गौरक्षकों ने हत्या कर दी थी।

जबकि पुलिस जांच में ये तथ्य सामने आया कि गाय को इंसान ने नहीं बल्कि एक शेर ने मारा था। गुजरात में दलितों ने इस घटना के खिलाफ काफी विरोध प्रदर्शन भी किए थे।

उस घटना को याद करते हुए 47 वर्षीय दलित बालू सरवैया बुद्ध, बीआर अंबेडकर और बीएसपी सुप्रीमो मायावती की तस्वीर की तरफ इशारा करते हुए कहते हैं, 'वो जैसी भी हों हम मायावती के साथ हैं।'

बालू पेशे से चर्मकार थे और परिवार सहित बालू गाय का चमड़ा उतारने का काम करते थे लेकिन उस हादसे के बाद से उन्होंने यए काम छोड़ दिया है।

बालू ने बताया,'हमारे परिवार ने गाय का चमड़ा उतारने का काम छोड़ दिया है लेकिन गौरक्षकों का डर बना हुआ है। हम चाहते हैं कि हमारे बेटे अहमदाबाद में बस जाएं।'

उन्होंने कहा, 'मैं गांव में रहूंगा। अगर वो मुझे मार देते हैं तो कोई बात नहीं। वो गुस्सा हैं और कभी भी बदला ले सकते हैं। अगर मेरे बेटे को जेल हुई होती तो मुझे भी ऐसा ही लगता। इस बार उन लोगों ने हम पर हमला किया तो कोई वीडिया वायरल नहीं होगा, लेकिन वो देखने लायक मंजर होगा।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top