Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ब्लू व्हेल गेम ने एक और युवक की ली जान, लिखा- जिंदगी से तंग आ गया हूं

सूसाइड नोट में लिखा-अपने जिंदगी से तंग आ गया हूं।

ब्लू व्हेल गेम ने एक और युवक की ली जान, लिखा- जिंदगी से तंग आ गया हूं

ब्लू व्हेल गेम न केवल दुनिया में बल्कि भारत में भी कई बच्चों की जान ले चुका है। इस गेम को खेलने वाले बच्चों के आत्महत्या करने का सिलसिला थम नहीं रहा है।

गुजरात की आर्थिक राजधानी अहमदाबाद के एक लड़के ने ब्लू व्हेल गेम खेलकर शुक्रवार को साबरमती नदी में छलांग लगाकर अात्महत्या कर ली। उसने अपने सूसाइनोट में लिखा है कि वह अपनी जिंदगी से तंग आ गया है। उल्लेखनीय है कि इसको लेकर भारत में अब तक ब्लू व्हेल गेम की वजह से सात लोगों की मौत हो चुकी है। कई और खुदकुशी की कोशिश कर चुके हैं।

सुसाइड नोट में लिखा- तंग आ गया हूं जिंदगी से

सुसाइड करने वाले युवक का नाम अशोक मालुणा था। वह बनासकांठा जिले के पालनपुर तहसील के मालण गांव का रहने वाला था।

उसने अपने सुसाइड नोट में लिखा, मैं अपनी मम्मी और सिस्टर से बहुत प्यार करता हूं, लेकिन में अपनी इस बोरिंग जिंदगी से तंग आ चुका था, इसलिए ये वीडियो (फेसबुक पर ब्लू गेम लाइव खेलने का) बना रहा हूं, इसके पीछे किसी का कोई दोष नहीं है।

मेरे ऊपर किसी का कोई दबाव नहीं है। मैं अपनी लाइफ से बहुत तंग आ चुका हूं। मैं अपनी फेमिली को कैसे बताऊं कि उससे कितना प्यार करता हूं, लेकिन मैं अब जीना नहीं चाहता, इसलिए अब सुसाइड कर रहा हूं।

आज लास्ट स्टेज है, इसलिए सुसाइड कर रहा हूं

उसने सुसाइड नोट में आगे लिखा है, मैं घर से 46 हजार रुपए साथ में लेकर मुंबई गया था, लेकिन वहां बहुत बारिश होने की वजह से वापस अहमदाबाद आया हूं। यहां अभी सुसाइड करूंगा। बैग में जो पैसे हैं वो मेरी फैमिली को दे देना, मैं अपने फ्रैंड को साथ में लेकर गया था, वो बेग उसके पास ही है और मोबाइल भी उसके पास है।

मोबाइल में मेरी फेमिली के फोन नंबर हैं, उन्हें कॉल करके बता देना कि उनका भाई, उनका बेटा अब इस दुनिया में नहीं है। इसीलिए मैंने ब्ल्यू व्हेल गेम डाउनलोड किया था और आज मेरा लास्ट स्टेप है, तो सुसाइड कर रहा हूं। मैं अब इस दुनिया से जा रहा हूं। किसी को भी गलती से मैंने दुख पहुंचाया हो, तो माफ कर देना। मैं अपने सुसाइड के लिए खुद को जिम्मेदार मानता हूं। मैं पालनपुर तहसील के मालन गांव का रहने वाला हूं प्लीज, मुझे माफ कर देना।

दोस्तों ने आत्महत्या करने से मना किया था

बताया जा रहा है कि फेसबुक पर अशोक के ब्लू गेम खेलते लाइव वीडियो को देखने के बाद उसके दोस्तों ने उसे सुसाइड न करने की सलाह दी थी।

अशोक ने बारहवीं तक पढ़ाई की थी। उसके पिता की पहले ही मौत हाे चुकी थी। घर में वह मां और तीन बहनों के साथ रहता था।

ब्लू व्हेल खोजने में टॉप 10 शहरों में 7 भारत के

सरकार के रोक लगाने के बावजूद ब्लू व्हेल गेम काफी सर्च किया जा रहा है। 30 अगस्त तक गूगल सर्च के ट्रेंड से मिले डाटा के मुताबिक कोच्चि में नेट पर यह गेम दुनिया में सबसे ज्यादा सर्च किया गया। सालभर में कोच्चि में इसकी 100 गुना ज्यादा बार सर्चिंग हुई।

दुनिया के टॉप 10 शहरों में 7 भारत के हैं। तिरुवनंतपुरम दूसरे और कोलकाता तीसरे पर है। बेंगलुरू छठे पर है। टॉप 10 में अन्य भारतीय शहर गुवाहाटी, मुंबई और दिल्ली भी हैं। भारत के अलावा अन्य देशों के तीन शहर सैन-ऐंटोनियो, नैरोबी और पेरिस शामिल हैं। वहीं सर्च करने वाले टॉप देशों में भारत चौथे नंबर पर है।

सरकार ने क्या उठाए कदम

11 अगस्त को ही सरकार ने इंटरनेट की बड़ी कंपनियों जैसे गूगल, फेसबुक, वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम, माइक्रोसॉफ्ट और याहू को ऑर्डर जारी किए थे। इसमें साफ तौर पर कहा गया था कि इस गेम को ये कंपनियां अपने सभी प्लेटफॉर्म्स से फौरन हटा दें। प्रसाद ने कहा, मैं इन कंपनियों से अपील भी करता हूं कि आईटी मिनिस्ट्री द्वारा दिए गए डायरेक्शंस को फॉलो करें। फिर भी अगर कोई कंपनी हमारी गाइडलाइन्स को वॉयलेट करती है तो इसको बहुत गंभीरता से लिया जाएगा।''

भारत में गेम का लिंक अभी भी एक्टिव

इस बीच, ब्लू व्हेल गेम पर बैन के बावजूद इसके लिंक एक्टिव होने को सरकार ने गंभीरता से लिया है। इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने जांच के आदेश दिए हैं कि रोक के बावजूद यह गेम कैसे एक्टिव है। प्रसाद ने कहा कि साइबर हमला और ऐसे लिंक आने वाले समय में बड़ी चुनौती बनने वाले हैं। इसलिए सभी इंडस्ट्री को साइबर सुरक्षा अधिकारी अप्वॉइंट करने को कहा है। इसके लिंक की पहचान के लिए कमेटी बनाने का भी फैसला लिया गया है।

क्या है 'ब्लू व्हेल चैलेंज'

'द ब्लू व्हेल गेम' या 'द ब्लू व्हेल चैलेंज' रूस में बना एक इंटरनेट गेम है। इसमें प्लेयर को 50 दिन तक कुछ खास टास्क बताए जाते हैं। एक-एक कर सारे टास्क पूरे करते रहने पर आखिरी में सुसाइड के लिए उकसाया जाता है। हर टास्क पूरा होने पर प्लेयर को अपने हाथ पर एक कट लगाने के लिए कहा जाता है। आखिरी में जो इमेज उभरती है, वो व्हेल मछली की तरह होती है।

गेम मेकर हो चुका है अरेस्ट

रूस के फिलिप बुडेकिन ने 2013 में यह गेम बनाया। 'द ब्लू व्हेल चैलेंज' 130 लोगों की जान ले चुका है। 2015 में इसे खुलते हुए सुसाइड का पहला केस सामने आया था। इसके बाद फिलिप को अरेस्ट कर लिया और उस पर केस चलाया गया। सुनवाई के दौरान गेम मेकर ने बताया- ''गेम का मकसद समाज की सफाई करना है। फिलिप की नजर में सुसाइड करने वाले सभी लोग 'बायो वेस्ट' थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top