Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक का एक और झूठा दावा, तबाह किए भारतीय सेना के पोस्ट

पाकिस्तान आर्मी ने एक बार फिल झूठ बोलते हुए अपने नागरिकों और आतंकवादियों को झूठा दिलासा दिया।

पाक का एक और झूठा दावा,  तबाह किए भारतीय सेना के पोस्ट
X

पाकिस्तान आर्मी ने एक बार फिल झूठ बोलते हुए अपने नागरिकों और आतंकवादियों को झूठा दिलासा दिया। पाक ने ताजे झूठ में बोला कि उसने लाइन ऑफ कंट्रोल पर कार्रवाई में भारतीय सेना की कई पोस्ट्स तबाही कीं और उसके पांच सैनिक मार गिराए।

यह दावा एलओसी के तत्ता पानी सेक्टर के बारे में किया गया है। पाकिस्तान आर्मी के स्पोक्सपर्सन मेजर जनरल आसिफ गफूर ने गुरुवार रात एक कथित वीडियो क्लिप भी जारी किया।

इसमें दिखाया गया है कि पाकिस्तान आर्मी ने किस तरह भारतीय पोस्ट्स पर बमबारी कर उन्हें उड़ा दिया। वीडियो में इन पोस्ट्स से लपटें भी दिखाई देती हैं। हालांकि यह वीडियों पुराना कहा जा रहा है।

इसे पिछले दिनों पाकिस्तान के एक मिसाइल हमले में एक कैप्टन समेत चार जवान शहीद होने के समय का कहा जा रहा है जिसे गफूर ने ताजा वीडियो बताकर अपने नागरिकों को बरगलाया है।

यह भी पढ़ेंः भारत और अमेरिका को खुश करने के लिए पाक हम पर कर रहा कार्रवाई: हाफिज

भारत ने दावे को निराधार बताया

भारतीय सेना ने पाकिस्तान के दावे को बेबुनियाद बताया कि उसने हमला कर भारत को क्षति पहुंचाई है। इसके पहले पाकिस्तान आर्मी ने आरोप लगाया था कि भारतीय सेना एलओसी पर नियमों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। इसमें आम नागरिक मारे जा रहे हैं।

डेढ़ माह में मारे पाक के 20 रेंजर्स

मालूम हो कि भारतीय सेना की कार्रवाई में 1 जनवरी से अब तक मारे गए 20 पाक रेंजर्स मार डाले हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच गहरे होते तनाव का सीधा असर दोनों देशों की सीमा पर भी देखा जा रहा है। जहां पर लगातार दोनों तरफ से फायरिंग और जानें जा रही है।

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान ने दी चेतावनी, कहा- हम भारत को हर भाषा में जवाब देने में सक्षम

200 आतंकी छुपे हैं घाटी में

जम्मू कश्मीर के पीर पांजाल रेंज में नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठ की फिराक में बैठे करीब 180 से 200 आतंकियों की खुफिया रिपोर्ट के बाद सेना की तरफ से घाटी में निगरानी और बढ़ा दी गई है।

दक्षिणी पीर पंजाल रेज में जो इलाके आते हैं वो है पूंछ, राजौरी और मेंढर सेना से जुड़े लोगों का यह कहना है कि घाटी में इस वक्त सेना के जवान बेहद सक्रिय हैं

और लगातार हो रहे संघर्ष विराम उल्लंघन के चलते वह ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दे रहे हैं। पिछले साल भारतीय सेना की फायरिंग में 138 की मौत हुई थी जबकि 156 घायल हुए थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story