Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मार्च के पहले सप्ताह में होगा लोकसभा चुनाव 2019 की तिथियों का ऐलान!

राजनीतिक दल पूरी तरह चुनावी मूड में आ गए हैं। तिथियों को लेकर अटकल बाजियां भी चल रही हैं। इसी बीच भारतीय चुनाव आयोग ने संकेत दिया है कि मार्च के पहले सप्ताह में इसका ऐलान हो जाएगा।

मार्च के पहले सप्ताह में होगा लोकसभा चुनाव 2019 की तिथियों का ऐलान!
X

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए हालांकि अभी तिथियों की घोषणा होना बाकी है। लेकिन राजनीतिक दल पूरी तरह चुनावी मूड में आ गए हैं। तिथियों को लेकर अटकल बाजियां भी चल रही हैं। इसी बीच भारतीय चुनाव आयोग ने संकेत दिया है कि मार्च के पहले सप्ताह में इसका ऐलान हो जाएगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, चुनाव आयोग ने सभी राज्यों के मुख्यसचिवों व पुलिस महानिदेशकों को पत्र लिखकर आगाह किया है कि लोकसभा चुनाव निकट है, आयोग कभी भी चुनाव तिथियों का ऐलान कर सकता है। इसके मद्देनजर व प्रशासनिक तैयारियों की लिहाज से वे 28 फरवरी तक जरूरी स्थानांतरण हर हाल में कर लें, इसके बाद आयोग को इसकी अनुमति देना पूरी तरह संभव नहीं होगा।

आयोग के इस पत्र के बाद माना जा रहा है कि 2 या 3 मार्च 2019 को चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव की तिथियों का ऐलान कर देगा। बता दें कि 16वीं लोकसभा का कार्यकाल 26 मई 2019 तक है। इससे पहले नई लोकसभा का गठन होना है।

इस लिहाज से आयोग के लिए जरूरी हो जाएगा कि वह लोकसभा चुनाव की तिथियों का ऐलान मार्च के पहले सप्ताह में ही कर दे। चुनाव अप्रैल-मई में संभावित हैं। 3 जून से पहले नई लोकसभा का गठन करना है। आयोग ने सभी राज्यों से 15 फरवरी तक 10 बिंदुओं पर जवाब देने को कहा है, जिससे तैयारी के स्तर का पता चलेगा।

सुरक्षा बलों की तैनाती पर गृह मंत्रालय से होगी चर्चा
सूत्रों के अनुसार, आयोग ने आम चुनाव से जुड़ी तैयारियां कर ली हैं। अब सुरक्षा व्यवस्था को ही अंतिम रूप देना बचा है। इसके लिए गृह मंत्रालय से एक दौर की बातचीत हो गई है। कहां कितने अर्धसैनिक बल चाहिए, यह तय करने के बाद ही निश्चित होगा कि कितने चरणों में कहां और कब चुनाव होंगे। फरवरी के दूसरे हफ्ते में गृह मंत्रालय की बैठक में इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा।
कब घोषित हुए पिछले आम चुनाव
2004 : 29 फरवरी, चार चरण
2009 : 2 मार्च, पांच चरण
2014 : 5 मार्च, 9 चरण

लोकसभा के साथ कई राज्यों में विधानसभा चुनाव
आम चुनाव के साथ एक दर्जन राज्यों में विधानसभा चुनाव कराने की तैयारी भी चल रही है। तय कार्यक्रम के अनुसार लोकसभा चुनाव के साथ चार राज्यों का कार्यकाल पूरा होता है और वहां विधानसभा चुनाव होने तय हैं। केंद्र सरकार की ऐसी तैयारी है कि इसके अलावा आधा दर्जन और राज्यों में भी चुनाव हो सकते हैं।
सूत्रों के अनुसार, आयोग ने भी इस बारे में तैयारी कर रखी है। बीजेपी की ऐसी योजना है कि जिन राज्य में अक्टूबर-नवंबर में चुनाव होने वाले हैं, वहां लोकसभा के साथ ही चुनाव करा दें। इसके पीछे बीजेपी की अपनी रणनीति भी है।
मसलन महाराष्ट्र के बारे में आकलन है कि दोनों चुनाव साथ होने पर शिवसेना कोई जोखिम नहीं लेगी और गठबंधन में बनी रहेगी। दूसरे राज्यों में सत्ता विरोधी लहर को मोदी फैक्टर से काटा जा सकेगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story