Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अन्ना आंदोलन का 7वां दिन: एक्टिव मोड में मोदी सरकार, जल्द खत्म हो सकता है आंदोलन

अन्ना जल्द ही अपना अनशन खत्म कर सकते हैं। इस मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस भी रामलीला मैदान जा सकते हैं।

अन्ना आंदोलन का 7वां दिन: एक्टिव मोड में मोदी सरकार, जल्द खत्म हो सकता है आंदोलन

पिछले 7 दिनों से चल रहे अन्ना हजारे के अनशन पर सरकार अब एक्टिव मोड़ में नजर आ रही है। बताया जाता है कि अन्ना के अनशन को खत्म कराने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय से एक ड्राफ्ट अन्ना को भेजा गया है।

जानकारी के मुताबिक कृषि राज्यमंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री गिरीश महाजन आज अन्ना से मिलकर अनशन खत्म करने के की अपील करेंगे।

सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा भेजे गए ड्राफ्ट को अन्ना ने स्वीकार कर लिया है। इसके बाद अन्ना जल्द ही अपना अनशन खत्म कर सकते हैं। इस मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस भी रामलीला मैदान जा सकते हैं।

फेसबुक पर लिखा पोस्ट

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने 23 मार्च से अपना अनशनशुरू किया था आज उसका सातवां दिन है। आज अन्ना ने अपनी फेसबुक वाल पर एक पोस्ट लिखा है।

अन्ना ने लिखा कि 'कई दिनों से देख रहा हूं कि कई लोग मेरी आलोचना कर रहे हैं और मुझ पर झूठे आरोप लगाकर मुझे बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। मैंने जीवन में बहुत आलोचना सहन की है और मुझे इससे कभी डर नहीं लगता ना ही मैं उससे दुखी होता हूं। मुझे देश हित के सिवा कुछ नहीं चाहिए, मुझे ना किसी से वोट मांगने हैं, ना कुछ और। दुख केवल इस बात का है कि मेरी आलोचना करने वाले सिर्फ झूठ बोलते हैं और उस पर बात नहीं करते जो मुद्दे मैंने आंदोलन में उठाए। फिर भी भगवान उनका भला करे।'

इसे भी पढ़ें- पेपर लीक विवाद: कांग्रेस और बीजेपी में बयानबाजी जारी, दोनों पार्टियों ने एक-दूसरे पर कसे तंज, जानें क्या कहा

ये है अन्ना हजारे की प्रमुख मांगे-

-लोकपाल कानून को कमजोर करने वाली धारा 44 और धारा 63 को खत्म किया जाए।

लोकपाल विधेयक पारित हो और लोकपाल कानून तुरंत लागू किया जाए।

-हर राज्य में सक्षम लोकायुक्त नियुक्‍त किया जाए।

-खेती पर निर्भर 60 साल से अधिक उम्र वाले किसानों को हर महीने 5 हजार रुपए पेंशन मिले।

-कृषि मूल्य आयोग को संवैधानिक दर्जा तथा सम्पूर्ण स्वायत्तता मिले।

-किसानों को उनकी लागत से डेढ़ गुना ज्‍यादा फसलों के दाम मिले।

-चुनाव सुधार के लिए सही निर्णय लिया जाए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top