Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रसव पीड़ा से जूझ रही महिला को 12 किमी डोली में बैठाकर पैदल चला पति, रास्ते में हुई डिलीवरी- नवजात की मौत

विजयनगरम के आदिवासी क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

प्रसव पीड़ा से जूझ रही महिला को 12 किमी डोली में बैठाकर पैदल चला पति, रास्ते में हुई डिलीवरी- नवजात की मौत

आंध्र प्रदेश में राज्य सरकार की इस घटना ने स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं की पोल खोल दी है। यहां पर प्रसव पीड़ा से जूझ रही एक गर्भवती महिला को डोली में बैठाकर उसका पति गांव वालों की मदद से ऐंबुलेंस तक पहुचने के लिए 12 किलो मीटर जंगलों के रास्ते पैदल चला।

गर्भवती महिला ऐंबुलेंस तक पहुंचने से पहले ही बीच रास्ते में ही बच्चे को जन्म दे दिया। लेकिन जवजात की मौत हो गई। महिला अस्पताल में भर्ती है। डॉ. एसएन ज्योति ने कहा कि यहां पर जिंदम्‍मा को लाया गया उन्होंने गर्भनाल को बरकरार रखा, उनकी हालत स्थिर है। आपको बता दें कि ये मामला आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले का है। यहां पर 22 वर्षीय जिंदम्‍मा नाम की महिला को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई।

यह भी पढ़ें- NRC मुद्दे पर राज्यसभा में हंगामा, वेंकैया नायडू ने गुलाम नबी आजाद से की मुलाकात, हुई ये बात

रास्ते की सही व्यवस्था नहीं होने के कारण महिला को ऐंबुलेंस तक ले जाने के लिए उसके पति ने बांस और साड़ी की डोली बनाकर उसपर पत्नी को बैठाया और गांव वालों की मदद से जंगलों के रास्ते 12 किलो मीटर पैदल चलना शुरू कर दिया। लेकिन रास्ते में ही महिला ने नवजात को जन्म दे दिया, जन्म के कुछ देर वाद नवजात की मौत हो गई।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि विजयनगरम के आदिवासी क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। पिछले कुछ महीनों में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। जब गांववालों ने कंधों पर मरीजों को अस्पताल पहुंचा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top