Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आने वाले महीनों में बढ़ सकते हैं दूध के दाम

अमूल और मदर डेयरी बढ़ाएंगी दूध के प्राइस।

आने वाले महीनों में बढ़ सकते हैं दूध के दाम
नई दिल्ली. अगले कुछ दिनों में दूध के दामों में बढ़ोत्तरी हो सकती है। दूध के साथ ही दूध-उत्पाद के दाम भी बढ़ने जा रहे हैं। अमूल और मदर डेयरी कंपनियां आने वाले महीनों में दूध की कीमते बढ़ाने की योजना बना रही हैं। किसानों को दिए जाने वाले भुगतान को बढ़ाने के लिए दुग्ध उत्पादों के दाम बढ़ाने की योजना है। कंपनियों का कहना है कि मिल्क प्रॉडक्शन में सुस्ती आई है इसलिए प्राइस बढ़ाने होंगे।
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक डेयरी सेक्टर की बड़ी कंपनियों अमूल और मदर डेयरी को अप्रैल में अगले वित्त वर्ष में मिल्क प्रॉडक्ट्स के कैरी फॉरवर्ड स्टॉक में बड़ी गिरावट की आशंका है। ऐसे में कंपनियां दूध और दूध उत्पादों के दाम बढ़ाने की योजना बना रही हैं। हालांकि कंपनियां कीमतों बढ़ाने के बाद होने वाले फायदे को किसानों को देना चाहती हैं ताकि उन्हें सप्लाइ बढ़ाने के लिए उत्साहित किया जा सके। इससे कंपनियों को गर्मियों के लिए स्टॉक तैयार करने में भी मदद मिलेगी। गर्मियों के दौरान ताजे दूध का उत्पादन कम हो जाता है।

किसानों के लिए बढ़ानी होगी दूध की कीमत-
अमूल ब्रैंड चलाने वाले गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर आर एस सोढ़ी ने कहा, 'मार्च तक स्किम्ड मिल्क पाउडर (एसएमपी) का कैरी फॉरवर्ड स्टॉक पिछले साल के मुकाबले 50 फीसदी कम रहेगा। ऐसे में हमें किसानों के लिए दूध की कीमत फिर बढ़ानी पड़ेगी। इसका असर मार्केट प्राइस पर पड़ेगा। ग्राहकों को ज्यादा पैसे देने के लिए तैयार रहना होगा।'
अमूल और मदर डेयरी के साथ और कंपनियां भी बढ़ाएंगी कीमत-
इस साल जून-जुलाई के दौरान दूध की कीमतों में इजाफा हुआ था। उस वक्त दूध की कीमतों में 1 रुपये प्रति लीटर का इजाफा हुआ था। प्राइवेट डेयरीज आमतौर पर अमूल और मदर डेयरी की तर्ज पर अपने दुग्ध उत्पादों के दाम बढ़ाती हैं। नोवा ब्रैंड के तहत डेयरी प्रॉडक्ट्स बेचने वाली स्टर्लिंग ऐग्रो इंडस्ट्रीज के मैनेजिंग डायरेक्टर कुलदीप सलूजा ने कहा, 'अगर अमूल लिक्विड मिल्क के दाम बढ़ाता है तो हमें भी ऐसा करना होगा।' सलूजा ने कहा कि बटरमिल्क, बटर और आइसक्रीम जैसे मिल्क प्रॉडक्ट्स के दाम मार्च तक 5 से 10 फीसदी बढ़ सकते हैं।
सुस्त हुआ मिल्क प्रॉडक्शन-
अमूल ने 2014-15 से किसानों को दिए जाने वाले प्राइस में कोई इजाफा नहीं किया है। उस वक्त मांग के मुकाबले मार्केट में ज्यादा सप्लाई थी, लेकिन अब हालात बदल गए हैं। सोढ़ी ने कहा, 'चूंकि, अब मिल्क प्रॉडक्शन सुस्त हो गया है और हमारे पास मिल्क पाउडर और बटर का कम कैरी-फॉरवर्ड स्टॉक है, ऐसे में हमें खरीद कीमत में इजाफा करना होगा।' उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में जानवरों के चारे के दाम भी 32 से 35 फीसदी बढ़ गए हैं। ऐसे में कीमतों में बढ़ोतरी करना जरूरी है।
अमूल ने पिछले महीने ही बढ़ाए हैं दाम-
अमूल ने पिछले एक महीने में गाय के दूध का प्रोक्योरमेंट प्राइस 10 फीसदी बढ़ाकर 30 रुपए प्रति लीटर कर दिया है। इसके साथ ही भैंस के दूध का दाम बढ़ाकर 41-42 रुपये प्रति लीटर हो गया है। कंपनी इसमें आगे और इजाफा कर सकती है। सोढ़ी ने कहा कि इस वक्त देश में डेयरी कोऑपरेटिव्स और निजी कंपनियों के पास एसएमपी का कैरी फॉरवर्ड स्टॉक 32,000 टन से 35,000 टन के बीच है। एक साल पहले यह स्टॉक 1.25 लाख टन था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top