Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Happy Army Day 2019 : जानें सेना दिवस और कौन थे फील्ड मार्शल केएम करियप्पा

15 जनवरी 1949 को ब्रिटिश कमांडर फ्रांसिस बूचर ने फील्ड मार्शल कोडंडेरा मडप्पा करिअप्पा के हाथों में भारतीय सेना की कमान सौंपी थी। जिसके बाद से हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाता है।

Happy Army Day 2019 : जानें सेना दिवस और कौन थे फील्ड मार्शल केएम करियप्पा
सेना दिवस (Army Day 2019) हर साल 15 जनवरी को मनाया जाता है। इस दिन भारतीय सेना (India Army) के शौर्य और पराक्रम को दिखाया जाता है। इस दिन की शुरुआत भारत में आजादी (Independent day) के बाद 1949 में हुई थी। तभी से 15 जनवरी (15 January History) को सेना दिवस मनाया जाता है।
15 जनवरी को सेना दिवस की शुरुआत फील्ड मार्शल कोडंडेरा मडप्पा करिअप्पा (Field Marshal KM Cariappa) के हाथों में भारतीय सेना की कमान सौंपने से हुई थी। 15 जनवरी 1949 को ब्रिटिश कमांडर फ्रांसिस बूचर ने आजाद भारत के हाथ में सेना की कमान करियप्पा को सौंप दी थी। इस दिन के.एम.करियप्पा सेना के चीफ बने थे।

जानें कौन थे फील्ड मार्शल कोडंडेरा मडप्पा करिअप्पा

बता दें कि करिअप्पा को भारत का पहला सेना प्रमुख 15 जनवरी 1949 को बनाया गया था। करिअप्पा का जन्म कर्नाटक के कुर्ग परि में 28 जनवरी 1899 हुआ था।
इतिहास में वो सिर्फ भारत के पहले सेना प्रमुख ही नहीं बल्कि वो फील्ड मार्शल का रैंक तक पहुंचे वाले भी पहले भारतीय थे। उन्होंने 1947 में पाकिस्तान से साथ हुए युद्ध में पड़ोसी देश के दांत खट्टे कर दिए थे। इसके बाद उन्होंने कई मोर्चों पर पाकिस्तान को मुंह की खिलाई थी।

जानें क्यों मनाया जाता है सेना दिवस

भारत की आजादी के बाद 15 जनवरी 1949 में फील्ड मार्शल केएम करियप्पा को जनरल फ्रांसिस बुचर से भारतीय सेना की आखिरी कमान सौंपी थी। जिसकी वजह से हर साल आर्मी डे मनाया जाता है।

क्या होता है इस दिन

Image result for indian army haribhoomi

आर्मी डे पर अलग अलग जगहों पर परेड होती है और सेना के शोर्य और पराक्रम को दिखाया जाता है। झांकियां निकाली जाती हैं। सेना में किन किन तोप, राइफल, मिसाइल को शामिल किया गया है उसका शक्ति प्रदर्शन होता है।

कब हुआ भारतीय सेना का गठन

Image result for indian army haribhoomi

कहते हैं कि 1776 में ईस्ट इंडिया कपंनी के नेतृत्व में इंडियन आर्मी का गठन हुआ था। इस वक्त भारतीय सेना के पास 53 कैंटोनमेंट और 9 सेना बेस हैं। वहीं सेना में कई बदलाव भी हुए। इस वक्त बिपिन रावत भारतीय सेना के चीफ हैं और दिल्ली में एक बड़ी सेना परेड में वो शामिल होंगे।
Share it
Top