Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केरल यात्रा बीच में छोड़कर दिल्ली पहुंचे शाह, पीएम- जेटली के साथ बैठक

अमित शाह 17 अक्टूबर को केरल यात्रा के समापन के अवसर पर जाएंगे।

केरल यात्रा बीच में छोड़कर दिल्ली पहुंचे शाह, पीएम- जेटली के साथ बैठक
X

केरल की अपनी बहुप्रचारित यात्रा बीच में छोड़कर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह मंगलोर से दिल्ली के लिए अचानक उड़े तो केरल से दिल्ली तक कई तरह के कयासों को बल मिला। मगर जल्द ही भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने साफ कर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुलावे पर अमित शाह दिल्ली पहुंचे हैं।

प्रधानमंत्री आवास पर खुद प्रधानमंत्री, केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली और अमित शाह पार्टी के तीनों सर्वोच्च नेता संभवत: आर्थिक मंदी से उबरने के लिए भविष्य का राजनीतिक रोडमैप बनाने एकसाथ बैठे।

गुजरात के आगामी चुनाव से पहले लगातार बदलते सियासी हालातों पर भी बताया गया कि तीनों नेताओं के बीच चर्चा हुई। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को गुजरात के मुख्यमंत्री और मंत्रियों की जनसभा में वो मोदी-जादू ‘मिसिंग’ की बात लगातार उठ रही है।

पार्टी के उच्चपदस्थ सूत्रों ने साफ किया कि चूंकि ये बैठक पूर्व निर्धारित नहीं थी इसीलिए अमित शाह की 15 दिनों की केरल यात्रा को इस समय रखा गया था। अब भाजपा अध्यक्ष यात्रा समापन के अवसर पर एकबार फिर केरल जाएंगे।

सूत्रों ने बताया कि गुरुवार को ही अरुण जेटली के बांगलादेश से लौटने के बाद बैठक की रूपरेखा बनी। हो सकता है प्रधानमंत्री के मन में देश की अर्थव्यवस्था को लेकर कुछ ‘बड़ा’ करने की योजना हो! तभी उन्होंने एकदिन पहले देश की अर्थव्यवस्था पर उंगली उठाने वालों पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि ये वैसे लोग हैं जिन्हें देश में निराशा फैलाने में मजा आता है।

अगले ही दिन वे वित्तमंत्री और पार्टी अध्यक्ष के साथ ‘अन-प्लान्ड’ बैठक आहूत करते हैं। प्रधानमंत्री को इस बात का इल्म तो है कि देश की अर्थव्यवस्था को और दुरुस्त किया जा सकता है तभी उन्होंने बिबेक देबराय की अध्यक्षता में ‘डिफंग’ पड़ी आर्थिक मामलों की उच्चाधिकार प्राप्त समिति को पुनर्जीवित किया।

17 को केरल जाएंगे अमित शाह

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि पार्टी अध्यक्ष अब 17 अक्टूबर को केरल यात्रा के समापन के अवसर पर ही जाएंगे। उल्लेखनीय है कि केरल में मुख्यमंत्री पिन्नारी विजयन के गृहक्षेत्र कन्नूर में ही गत दिनों में 84 भाजपा कार्यकर्ताओं और संघ से जुड़े लागों की हत्या हो चुकी है।

राजनीतिक हत्या के न थमने वाले इस सिलसिले के खिलाफ भाजपा अध्यक्ष ने आक्रामकता के साथ केरल यात्रा की शुरूआत की थी। उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी यात्रा में शामिल होने लखनऊ से केरल पहुंचे थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story