Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राहुल ने सर्जिकल स्ट्राइक पर किया सेना का अपमानः शाह

शाह ने कहा कि दलाली तो कांग्रेस के मूल में है

राहुल ने सर्जिकल स्ट्राइक पर किया सेना का अपमानः शाह
नई दिल्ली. बीजेपी अध्यक्ष अमित ने सर्जिकल स्ट्राइक पर मीडिया रिपोर्टिंग की सराहना की. पीओके में भारतीय सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर मीडिया की खोजी पत्रकारिता की उन्होंने तारीफ की। इतना ही नहीं उन्होंने उन लोगों की भी आलोचना की है जिन्होंने इस ऑपरेशन पर सवाल उठाए।
अमित शाह ने राहुल गांधी के खून की दलाली वाले बयान पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष का ये बयान सेना और देश की जनता का अपमान है। शाह ने कहा कि दलाली तो कांग्रेस के मूल में है।
शाह ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा,'राहुल का 'खून की दलाली' वाला बयान सीमा लांघने वाला बयान है मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं। राहुल के शब्द सेना की वीरता का अपमान है।' शाह ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक में दलाली वाली बात कहां से आ गई? सर्जिकल स्ट्राइक कोई ऐसी घटना नहीं थी जिसके बारे में दलाली जैसे शब्द निकलने चाहिए। सेना के जवानों का खून क्या दलाली की चीज है। ये बयान कांग्रेस की मानसिकता को दर्शाती है।
हालांकि अमित शाह ने ये भी संकेत दिए कि आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी इसे चुनावी मुद्दा भी बना सकती है। शाह ने कहा,' सेना की वीरता के प्रयासों को जनता के बीच ले जाना होगा ताकि सेना का मनोबल बढ़े।' सेना की हौसला अफजाई हर राजनीतिक दल की जिम्मेदारी है।'
बीजेपी अध्यक्ष ने कहा,' किस बात की दलाली? कोयला घोटाले से लेकर 2 जी और बोफोर्स घोटाले तक में किसने ली दलाली?। दरअसल कांग्रेस नेतृत्व के मूल विचार में ही खोट है।' उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता में थी तब सेना की आवश्यकताओं की अनदेखी की गई थी। लेकिन अब जबकि सेना सीमा के पार जाकर आतंकियों के लॉन्च पैड को ध्वस्त कर दिया है तो कांग्रेस उल्टे आरोप लगा रही है। शाह ने कहा,'पूरा देश सेना के जवान के पीछे खड़ा है। हम भारत विरोधी बयानों पर नहीं बल्कि सेना के बुलेट पर भरोसा करते हैं। मौजूदा सरकार राजनीतिक ढृढ इच्छाशक्ति के साथ सेना के पीछे खड़ी है।' सर्जिकल स्ट्राइक के राजनीतिकरण के आरोप पर शाह ने कहा,' कांग्रेस हमपर ये आरोप न लगाए क्योंकि सर्जिकल स्ट्राइक की घटना के बारे में खुद सेना के डीजीएमओ ने जानकारी दी। इस बारे में सरकार ने कुछ नहीं बोला।'
शाह ने साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भी हमला करते हुए कहा कि सर्जकिल स्ट्राइक पर उनका सबूत मांगना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण था। केजरीवाल के इस बयान के बाद पाकिस्तान सोशल मीडिया में केजरीवाल का बयान ट्रेंड करने लगा था। शाह ने कहा कि किसी को भी सेना की वीरता पर शक नहीं करनी चाहिए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top