Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कालेधन पर खुली माया-मुलायम की पोल: अमित शाह

अमित शाह ने बताया कि ढाई लाख से कम 500 और 1 हजार के नोट रखने वाले से कोई पूछताछ नहीं की जाएगी।

कालेधन पर खुली माया-मुलायम की पोल: अमित शाह
नई दिल्ली. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 500 और हजार के नोट बंद होने और नई कर्रेंसी जारी करने की गई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस फैसले से प्रामाणिक करदाताओं को डरने की जरूरत नहीं है। सरकार छोटे व्यापारी, किसान, मजदूर, गरीब के हितों की रक्षा करेगी। इस दौरान शाह ने विरोध कर रही पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि यह फैसला आतंकियों, नक्सलियों, काला धन रखने वालों के खिलाफ है, इससे बीएसपी, सपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी क्यों परेशान हो रही है।
यह कदम भ्रष्टाचार के विरोध में
अमित शाह ने बताया कि ढाई लाख से कम 500 और 1 हजार के नोट वाले लोगों से कोई पूछताछ नहीं की जाएगी। 30 दिसंबर तक सभी बैंकों में पुराने नोट स्वीकार किए जाएंगे, इसलिए लोग हड़बड़ी ना करें। शाह ने बैंक और बैंक कर्मचारियों को जनता का सहयोग करने के लिए धन्यवाद दिया। बीजेपी अध्यक्ष ने बताया कि सरकार का यह कदम भ्रष्टाचार के विरोध में है और उन्होंने देश की जनता से अपील की है कि वो इस मुहिम से जुड़े और इसका समर्थन करे। लोगों के सामने आ रही दिक्कतों पर अमित शाह ने कहा कि भारत सरकार ने कमियों पर तत्काल सुधार के लिए टीम बनाई है। इसके तहत तीन दिन तक टोल टैक्स की वसूली पर रोक लगा दिया गया है। वहीं सरकारी भुगतान जैसे टेलीफोन, बिजली, पानी का बिल भरने में पुराने नोटों को स्वीकार किया गया है।
राजनीतिक पार्टियों की प्रतिक्रियाएं
एटीएम मशीनों पर लोगों के सामने आ रही दिक्कतों पर अमित शाह ने कहा कि एटीएम मशीन है मानव नहीं है, जो नोटों के हिसाब से ऑपरेट होता है। नए नोट का साइज और वजन अलग है, जिसके लिए व्यवस्था बदलने में थोड़ा वक्त लगेगा. शाह ने बताया कि सौ-सौ के नोट उपलब्ध हैं, लेकिन ये नोट ज्यादा मात्रा में भरे नहीं जा सकते, इसलिए एटीएम जल्दी-जल्दी खाली हो रहे हैं। शाह ने कहा कि कुछ तकलीफ सहते हुए अगर देश के अर्थतंत्र को बहुत बड़ा फायदा होता है, तो जनता को सरकार का सहयोग करना चाहिए। उन्होंने बताया कि फर्जी, काले नोट को निकालना जरूरी है क्योंकि इसके बिना देश आगे नहीं बढ़ सकता। सरकार के इस फैसले का राजनीतिक दलों द्वारा विरोध करने पर शाह ने कहा कि दो दिन से राजनीतिक पार्टियों की प्रतिक्रियाएं जनता देख रही है।
पुराने बड़े नोटों को बंद करने से परेशानी
कई राजनीतिक दलों में हाय-तौबा पर आश्चर्य जताते हुए शाह ने कहा कि काला धन को लेकर मोदी सरकार पर हमले बोलने वालों को इस फैसले से क्या पीड़ा है। राजनीति स्वच्छ हो, देश से काला धन बाहर हो इससे क्या परेशानी हो सकती है। अमित शाह ने नॉट बैन के मामले में कहा कि इस पुराने बड़े नोटों को बंद करने से आतंकियों, नक्सिलयों, जाली नोटों का कारोबार करने वालों को परेशानी हो सकती है। बीएसपी, सपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को जवाब देना चाहिए कि वे कालाबाजारियों के साथ हैं या उनके खिलाफ हैं। शाह ने कहा कि चारों पार्टियों ने अपने आप को एक्सपोज कर दिया है, जनता को अपना असली चेहरा दिखा दिया है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top