Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भाजपा के शाह का आर्कबिशप चर्च के पादरी अनिल कोटो पर बड़ा बयान, ''धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं करना चाहिए''

अमित शाह का चर्च द्वारा पत्र जारी करने के मुद्दे पर बड़ा बयान आया है। शाह ने कहा है कि जब बात धर्म की आती है तो ऐसी बाते नहीं करनी चाहिए। शाह ने आगे कहा कि धर्म के आधार पर भेदभाव पैदा करना सही नहीं होता।

भाजपा के शाह का आर्कबिशप चर्च के पादरी अनिल कोटो पर बड़ा बयान,

अमित शाह का चर्च द्वारा पत्र जारी करने के मुद्दे पर बड़ा बयान आया है। शाह ने कहा है कि जब बात धर्म की आती है तो ऐसी बाते नहीं करनी चाहिए। शाह ने आगे कहा कि धर्म के आधार पर भेदभाव पैदा करना सही नहीं होता। बता दे की भाजपा एक बार फिर चर्च के निशाने पर है।

दिल्ली के आर्कबिशप चर्च के पादरी ने भारत के सभी चर्चों को पत्र लिखा है। पत्र में आर्कबिशप चर्च के मुख्य पादरी अनिल कोटो ने लिखा है कि हम सभी एक खतरनाक और अशांत राजनीतिक माहौल का गवाह बन रहे है।

इसकी वजह से संविधान औऱ देश की धर्मनिरपेक्षता को खतरा है। पादरी ने आगे लिखा की हमें देश के नेताओं के लिए प्रार्थना करनी होगी। यह हमारी पवित्र परंपरा है। हम सभी लोग साल 2019 की और बढ़ रहे है। इसी साल हमें नई सरकार मिलेगी।

देखा जाए तो यह पहली बार नहीं है कि चर्च भाजपा के खिलाफ खड़े हो। ऐसे ही कुछ नागालैंड के चुनावो औऱ गोवा के चुनावों में देखने को मिला था। नागालैंड में तो चर्च द्वारा सांप्रदायिक पार्टी को वोट ना देने की अपील तक की गई थी। उससे पहले गुजरात और गोवा चुनावो में भी चर्च द्वारा भारत के लोकतंत्र को खतरा बताया गया था।

चर्च के इस पत्र पर आरएसएस ने करारा हमला बोला है। आरएसएस के प्रवक्ता राकेश सिन्हा ने कहा कि चर्च इसलिए घवराया हुआ है कि उसको धर्म परिवर्तन के नाम पर मिलने वाला पैसा अब सरकार की सख्ती से लगातार कम हो रहा है। चर्च का यह पत्र लोकतंत्र पर हमला है। यह सब बेटिकन के आदेश पर हो रहा है।

गौरतलब है की चर्च के इस पत्र की गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत कई राजनेताओं ने आलोचना की है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top