Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''सेक्स एडिक्शन'' की शिकार इस महिला का पिता ने भी किया यौन शोषण, बयां की दर्दभरी दास्तां

अमेरिका में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां टेक्सास में रहने वाली एक महिला अपनी सेक्स की लत के कारण आत्महत्या करने की स्थिति में पहुंच चुकी थी।

अमेरिका में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां टेक्सास में रहने वाली एक महिला अपनी सेक्स की लत के कारण आत्महत्या करने की स्थिति में पहुंच चुकी थी।

जेस डाउनी नामक महिला निमफोमेनिया नामक बीमारी से पीड़ित हैं। निमफोमेनिया नामक बीमारी में महिलाओं में सेक्स की अनियंत्रित इच्छा होती है। इसे आम तौर पर 'सेक्स एडिक्शन' कहा जाता है।

यह भी पढ़ें- डोनाल्ड ट्रंप की इस बात से नाराज सोनम ने बताया 'मूर्ख'- कहा- भारत से कुछ सीखिए

बारक्रॉफ्ट टीवी ने YouTube पर एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने जेस डाउनी की कहानी को दिखाया है। इस वीडियो में जेस बता रही है कि मुझे 5 साल की छोटी उम्र से ही सेक्स एडिक्शन हो गया था।

जिसके चलते मेरे पिता ने भी मेरा यौन शोषण किया। जब इस एडिक्शन के कारण मैं मौत के मुंह में जाने लगी तो मुझे इसकी गंभीरता का एहसास हुआ और तब मैंने इससे छुटकारे के प्रयास शुरु कर दिए।

जेस ने बारक्रॉफ्ट को बताया कि 'सेक्स एडिक्शन' काफी कन्फ्यूजिंग होता है। जिसकी वजह से बहुत से लोग ये भी नहीं जानते कि वो सेक्स एडिक्टिड हैं। जेस ने बताया कि पहले उन्हें भी नहीं पता था कि वह सेक्स एडिक्टिड हैं। बस अचानक से सेक्स की इच्छा होती थी, जिसकी वजह से वह बाहर निकलकर अंजान लोगों से मिलती थी।

जेस ने कहा कि सेक्स करते हुए उन्हें कभी भी अच्छा नहीं लगा और भावनात्मक तौर पर भी कभी संतुष्टि नहीं मिली। जेस के मुताबिक, जब उनकी लत बहुत ज्यादा बढ़ गई और उनकी जिंदगी पर ही खतरा मंडराने लगा तो उन्होंने इससे उबरने की ठानी।

यह भी पढ़ें- 'शॉपिंग' की वजह से छिनी मॉरीशस की राष्ट्रपति की कुर्सी, जल्द देंगी इस्तीफा

इसके बाद जेस ने एक रिकवरी ग्रुप ज्वाइन किया और खुद के सेल्फ कंट्रोल से इस बीमारी से अपना पीछा छुड़ाया। जेस ने बताया कि वह इस दौरान वह काफी समय तक सेक्स से दूर रही और नई जगहों पर घूमने गई। साथ ही उन्होंने कई विशेषज्ञों से सलाह ली।

सेक्स की लत के कारण ही जेस को अपनी नौकरी भी गंवानी पड़ी थी, जिसके चलते उन्हें काफी परेशानी का सामना भी करना पड़ा। जेस का कहना है कि वह शुरु में बिल्कुल भी धार्मिक नहीं थी और अपने एडिक्शन के समय वह काफी अकेला और तनावपूर्ण महसूस करती थी।

लेकिन जब जेस ने इससे उबरने का सोचा तो धीरे-धीरे उनका धर्म की ओर झुकाव हुआ। जेस का कहना है कि आज वह पहले के मुकाबले काफी बेहतर महसूस करती हैं। फिलहाल, जेस अब एक सेल्फ डेवलेपमेंट कोच के रुप में काम कर रही हैं और अन्य लोगों को सेक्स एडिक्शन से बचाने में मदद करती हैं।

Next Story
Top