Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रात 11 बजे मोदी और ट्रंप के बीच होंगी ये खास बातें!

राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भारतीय समयानुसार रात 11 बजे पीएम मोदी से फोन पर बात करेंगे।

रात 11 बजे मोदी और ट्रंप के बीच होंगी ये खास बातें!
नई दिल्ली. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भारतीय समयानुसार रात 11 बजे पीएम मोदी से फोन पर बात करेंगे। इसी के साथ दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों के बीच जो बातें होंगे उनको लेकर भी लोगों के बीच एक गहमागहमी बनी हुई है। बता दें कि वाइट हाउस ने 24 जनवरी को राष्ट्रपति ट्रंप का जो कार्यक्रम जारी किया उसमें इस बात की जानकारी दी गई।
बता दें कि जब भी अमेरिका में कोई नया राष्ट्रपति बनता है तो उनके कार्यक्रम के मुताबिक दूसरे देशों के राष्ट्रपति या प्रधानमंत्रियों से बातचीत का भी शेड्युल दे दिया जाता है। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप फोन पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जब बात करेंगे तो सबसे पहले मोदी उन्हें फिर से शुभकामनाएं देंगे और उसके तुरंत बाद मोदी ट्रंप से व्यापार, आतंकवाद, एनएसजी, वीजा पॉलिसी जैसे तमाम मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं। जिनके बारे में ट्रंप अपने रैलियों में जिक्र कर सकते हैं। .
1. शपथ ग्रहण के तुरंत बाद दिए भाषण में ट्रंप ने अमेरिकन फर्स्ट का नारा दिया था। जिसका मतलब साफ था कि अमेरिका में अमेरिकियों को ही प्राथमिकता दी जाएगी। ऐसे में भारतीयों के लिए भी मोदी बात कर सकते हैं। इस समय अमेरिका में लाखों भारतीय काम कर रहे हैं।
2. इस बातचीत के दौरान मोदी एनएसजी के मुद्दे पर भी ट्रंप से बात कर सकते हैं। क्योंकि अमेरिका एनएसजी के लिए भारत का समर्थन करता रहा है और ट्रंप भी भारत की तरफ झुकाव रखते हैं। तो हो सकता है कि ओबामा ने एनएसजी पर जो बात जहां छुड़ी थी ट्रंप उसे वहां से आगे बढ़ाएं।
3. इस बातचीत के दौरान ट्रंप और मोदी के बीच आंतकवाद को लेकर भी चर्चा हो सकती है। डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के मंच से आतंकवादी को खत्म करने की बात रही थी। दोनों ही नेता इसके पक्ष में हैं।
4. दूसरी तरफ आता है एचवन-बी वीजा सिस्टम। जिसमें पूरी तरह बदलाव किया जाएगा। इसको लेकर भी अमेरिका में रह रहे भारतीयों की समस्या बढ़ा दी है।
5. ट्रंप की ट्रेड पॉलिसी ऐसी है जिसमें पहले सिर्फ अमेरिका होता है और वह सभी व्यापार समझौते को नए सिरे से लागू करना चाहते हैं, भारत के साथ भी वह यही करने के पक्षधर है।
6. चीन के बढ़ते वर्चस्व पर भी ट्रंप चिंता जता चुके हैं। चीन को रोकने के ‌लिए अमेरिका भारत को अपना प्रमुख सहयोगी बना सकता है। क्योंकि चीन हमेशा एनएसजी में भारत का विरोध करता रहा हैं।
लेकिन इतना तो तय है कि दोनों राष्ट्राध्यक्षों के बीच यह बातचीत केवल औपचारिक नहीं होगी। भारत-अमेरिका सहयोग को लेकर स्पष्ट रूप से इस बातचीत में नई अमेरिकी सरकार की दिशा व सहयोग पर केंद्रीत होगी। संभव है आने वाले 6 माह में प्रधानमंत्री मोदी की अमेरिका यात्रा या फिर ट्रंप की भारत यात्रा का शेड्यूल भी तय हो सकता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top